आपका जिला मुख्य खबरें

छतरपुर में प्रशासन के खिलाफ अनोखा प्रदर्शन, ‘अंग्रेजों का गुलाम बनकर खाए कोड़े’. जानें पूरा मामला

Protest In Chhatarpur: छतरपुर में प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन करने का अजीबोगरीब मामला सामने आया है. यहां धरना या पुतला जलाकर नहीं, बल्कि अंग्रेजों के गुलाम की तरह बनकर प्रदर्शन किया जा रहा है. इतना ही नहीं प्रदर्शन के दौरान युवक को कोड़े मारते हुए ले जाया जा रहा हैं.उसके बदन पर खून के निशान […]
chhatarpur protest, Protest, Chhatarpur News, Chhatarpur Administration
फोटो: लोकेश चौरसिया, एमपी तक

Protest In Chhatarpur: छतरपुर में प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन करने का अजीबोगरीब मामला सामने आया है. यहां धरना या पुतला जलाकर नहीं, बल्कि अंग्रेजों के गुलाम की तरह बनकर प्रदर्शन किया जा रहा है. इतना ही नहीं प्रदर्शन के दौरान युवक को कोड़े मारते हुए ले जाया जा रहा हैं.उसके बदन पर खून के निशान दिखाई दे रहे हैं. ये अनोखा प्रदर्शन करने वाले शख्स का नाम मंजू अग्रवाल है. वह तहसीलदार द्वारा देश की आजादी के पहले के दस्तावेज मांगने के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे. रैली में उनके साथ कई लोग शामिल थे.

अब तक आपने कई तरह के प्रदर्शन देखे होंगे. कोई हाथ में पोस्टर लेकर प्रदर्शन करता है तो कोई नारेबाजी कर. लेकिन छतरपुर में अनोखे अंदाज में प्रदर्शन किया जा रहा है. इसमें कुछ लोग अंग्रेज बने हुए हैं और एक व्यक्ति गुलाम बनकर उनके कोड़े खा रहा है. प्रदर्शनकारियों ने इस तरह शहर के मुख्य मार्ग से रैली निकाली और प्रशासन को ज्ञापन सौंपा.

यह पढ़ें: बागेश्वर धाम बना MP की सियासत का केंद्र! आज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री से मिलेंगे CM शिवराज

आजादी के पहले का रिकॉर्ड मांग रही है तहसील
प्रदर्शनकारी मंजू अग्रवाल के मुताबिक छतरपुर तहसील में नामंत्रण के नाम पर बहुत पुराना रिकॉर्ड मांगा जा रहा है. इतना पुराना रिकॉर्ड, जब हमारा देश आजाद नहीं हुआ था. तहसीलदार देश की आजादी से पहले यानी कि सन् 1943-44 का रिकॉर्ड मांग रही है. प्रदर्शनकारी का कहना है कि उस समय अधिकांश भूमि शासकीय थी तो उस भूमि का प्राइवेट रिकॉर्ड कैसे मिल सकता है. भूमि का रिकॉर्ड शासकीय होने के कारण नामांतरण नहीं हो पा रहा है, इसीलिए वे तहसील के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.

नियम के मुताबिक हो रहा है कार्य
इस मामले को लेकर छतरपुर के नायब तहसीलदार अभिनव शर्मा का कहना है कि मंजू अग्रवाल द्वारा एक आवेदन दिया गया है. जिसमें उन्होंने उल्लेख किया है कि नामंत्रण को लेकर आजादी के पहले का रिकॉर्ड मांगा जा रहा है, जो कि नियम अनुसार कार्य किया जा रहा है. फिर भी यह आवेदन वरिष्ठ अधिकारियों के समक्ष रखा जाएगा और अधिकारी जो आदेश करेंगे उसका पालन किया जाएगा.

मध्य प्रदेश की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए Mp Tak पर क्लिक करें
ये है विकास दिव्यकीर्ति सर की फेवरेट फिल्म, नाम जानकर रह जाएंगे दंग IAS बहन की शादी में खूबसूरत लुक में नजर आईं टीना डाबी, देखें तस्वीरें बेहद कंजूस होते हैं इन तारीखों को जन्में लोग, पाई-पाई का रखते हैं हिसाब इस मूलांक वाली लड़कियों की किस्मत में होती है बेवफाई, प्यार में मिलता है धोखा जन्नत जैसे खूबसूरत हैं MP ये 2 गांव, कश्मीर-गोवा से होती है तुलना घमंडी और जिद्दी होती हैं इन तारीखों को जन्मीं लड़कियां ससुराल में राज करती हैं इन तारीखों में जन्मीं लड़कियां, मिलता है ढेर सारा प्यार प्यार से ज्यादा पैसे पर मरते हैं इस मूलांक वाले लोग, फायदे के लिए बनाते हैं रिश्ते इस दिन जन्में लोगों में होता है ‘राजयोग’, IAS-IPS बनने की जबर्दस्त काबिलियत शर्मिला टैगोर की हसीन अदाओं पर क्लीन बोल्ड हो गए थे क्रिकेटर टाइगर पटौदी खजुराहो में ऐसा क्या हुआ कि बन गया वर्ल्ड रिकॉर्ड? देखिए खास तस्वीरें पढ़ने में सबसे ज्यादा होशियार होते हैं इस मूलांक वाले लोग, बनते हैं बड़े अफसर जब लगे कि जिंदगी में अब कुछ नहीं बचा, तब दिव्यकीर्ति सर का ये सूत्र पार लगा देगा नैया गुस्से में आगबबूला हो जाते हैं इस तारीख को जन्में लोग, पलभर में तोड़ देते हैं रिश्ते खूबसूरती में IAS टीना डाबी को टक्कर देती हैं MPPSC टॉपर प्रिया पाठक, देखें तस्वीरें इस तारीख को जन्म लेने वाली लड़कियों में होता है IAS बनने का जन्मजात गुण वसंत में खिल जाती है ‘सतपुड़ा की रानी’, इस हिल स्टेशन की खूबसूरती देख रह जाएंगे हैरान बला की खूबसूरत होती हैं इस तारीख में जन्मीं लड़कियां, ऐश्वर्या का नाम भी है इस लिस्ट में बॉलीवुड की कौन सी एक्ट्रेस है विकास दिव्यकीर्ति की पहली पसंद? जान लीजिए करोड़ों में खेलते हैं इस तारीख को जन्में लोग, टाटा-अंबानी भी इस लिस्ट में