मुरैना: शहीद स्मारक पर लहराता रहा फटा तिरंगा, भूतपूर्व सैनिक हुए नाराज

हेमंत शर्मा

ADVERTISEMENT

Morena News mp news tricolor controversy
Morena News mp news tricolor controversy
social share
google news

MORENA NEWS: मुरैना में गणतंत्र दिवस के अवसर पर तिरंगा झंडा को लेकर एक कंट्रोवर्सी खड़ी हो गई.दरअसल जिस कलेक्टर कार्यालय में गणतंत्र दिवस समारोह मनाया जा रहा था, उसके पास में ही स्थित है शहीद स्मारक. लेकिन उस शहीद स्मारक पर फटा हुआ तिरंगा लहराता रहा. किसी भी जिम्मेदार अधिकारी ने फटे हुए तिरंगा झंडा को उतारकर उस पर नया झंडा लगाने को लेकर विचार नहीं किया. इससे भूतपूर्व सैनिक नाराज हो गए.

भरे गणतंत्र दिवस पर शहीद स्मारक जैसी पवित्र जगह पर पूरे दिन फटा तिरंगा लहराता रहा. स्थानीय लोगों और मीडियाकर्मियों ने जब इस बात की ओर प्रशासन का ध्यान दिलाया, तब उस फटे हुए झंडे को उतारा गया.मुरैना जिले में गणतंत्र दिवस धूमधाम के साथ मनाया गया, लेकिन कलेक्टर कार्यालय के बगल में स्थित शहीद स्मारक पर फटा हुआ तिरंगा झंडा लहराने से विवाद खड़ा हुआ. शहीद स्मारक पर लहरा रहे फटे हुए तिरंगे को जब मीडिया कर्मियों ने अपने कैमरे में कैद किया तो आनन-फानन में तिरंगे को उतार लिया गया।

भूतपूर्व सैनिक अब कलेक्टर को देंगे ज्ञापन
जिले का भूतपूर्व सैनिक संघ अब इस मामले में कलेक्टर को कार्रवाई के लिए ज्ञापन सौपेंगा. भूतपूर्व सैनिक योगेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि जिस तिरंगे की आन बान और शान के लिए अपनी जान देने से भी पीछे नहीं हटते हैं, उस तिरंगे का इस तरह से अपमान किया जा रहा है तो यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है. भूतपूर्व सैनिक संघ के उपाध्यक्ष योगेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि वे इसके लिए मुरैना कलेक्टर से मिलकर कार्रवाई करने की मांग करेंगे. जिला प्रशासन को सुनिश्चित करना होगा कि आगे से राष्ट्रीय ध्वज के सम्मान को लेकर विशेष ख्याल रखा जाए.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पुलिस परेड ग्राउंड में हुआ था मुख्य कार्यक्रम
गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुरैना में पुलिस परेड ग्राउंड में भव्य कार्यक्रम आयोजित किया गया था. यहां पर लोक निर्माण राज्यमंत्री सुरेश धाकड़ ने तिरंगा फहराया था. इसके अलावा सभी शासकीय कार्यालयों में भी तिरंगा फहराया गया, लेकिन कलेक्टर कार्यालय के पास में स्थित शहीद स्मारक पर लहरा रहे तिरंगे के अपमान को लेकर स्थानीय लोगों में भी नाराजगी देखी गई है. सभी ने मांग की है कि इस मामले में जिला प्रशासन जिम्मेदार व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई करें. इस संबंध में अब मुरैना जिला प्रशासन बोल रहा है कि वह जांच कराएंगे कि कैसे गणतंत्र दिवस पर शहीद स्मारक के फटे तिरंगे को बदला नहीं गया. कलेक्टर का कहना है कि जिम्मेदार जो भी अधिकारी-कर्मचारी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT