mptak
Search Icon

MP News: स्कूल में बच्चों ने नहीं लगाई झाड़ू तो उन्हें मिली ऐसी सजा कि कलेक्टर भी हैरान, जानें पूरा मामला

विकास दीक्षित

ADVERTISEMENT

बच्चों को मिली झाडू न लगाने की सजा
social share
google news

MP News: मध्य प्रदेश की मोहन सरकार शिक्षा को लेकर लाख दावे करती है. मध्य प्रदेश में हाईटेक स्कूल होने का दावा करती है. तो वहीं दूसरी तरफ उनके ही कर्मचारी उनके ही दावों को पलीता लगाते नजर आते हैं. ताजा मामला गुना से सामने आया है. यहां सरकारी स्कूल में झाडू न लगाने के कारण बच्चों का नाम स्कूल प्रबंधन ने काट दिया. जिसकी शिकायत जनसुनवाई के दौरान कलेक्टर से की गई. तब जाकर ये मामला सामने आया है. 

दरअसल पूरा मामला गुना जिले के टोरिया गांव का है. टोरिया गांव के शासकीय माध्यमिक स्कूल में पढ़ने वाले भाई बहन को केवल इसलिए स्कूल से निकाल दिया गया. क्योंकि उन्होंने कक्षा में झाडू लगाने से इंकार कर दिया था. पिता ने जब इस बात का विरोध किया तो दोनों बच्चों अनीता और विवेक रघुवंशी को स्कूल से TC देकर रवाना कर दिया गया. बेहद हैरान कर देने वाले इस मामले की शिकायत जनसुनवाई में कलेक्टर से की गई है. शिक्षा विभाग के लचर हालातों को सुधारने के लिए प्रदेश सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है. लेकिन, शिक्षकों का रवैया सुधरने का नाम नहीं ले रहा है. 

बच्चों ने बताई पूरी हकीकत

मुख्यालय से महज 10 किमी दूर स्थित शासकीय माध्यमिक विद्यालय ग्राम टोरिया के स्कूल में महिला शिक्षक सोनू रघुवंशी ,रूपवती रघुवंशी व राधा साहू पर गंभीर आरोप लगे हैं. महिला शिक्षकों पर आरोप है कि उन्होंने स्कूल में पढ़ने वाले दो छात्रों को बेवजह स्कूल से बाहर कर दिया. अनीता (कक्षा 5) व विवेक (कक्षा 4) में पढ़ते थे. जिन्हें स्कूल से बाहर कर दिया गया.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

बच्चों ने बताया कि उनसे क्लास में झाडू पोंछा लगवाया जाता था.  स्कूल टीचर उनसे काम करने का कहती थीं. यदि मना करते तो डांटती और मारपीट भी करती थीं.  टीचर कहती थीं कि यदि झाड़ू लगाओगे तो पैसे भी देंगे. इसकी शिकायत जब बच्चों ने अपने माता पिता से की तो मामले का खुलासा हुआ. बच्चों के पिता ने जब खुद स्कूल पहुंचकर पड़ताल की तो टीचरों की कारस्तानी सामने आ गई.

अधिकारियों ने कहा होगी कार्रवाई

आरोपों के घेरे में घिरी शिक्षिकाओं ने बताया कि बच्चों के पिता स्कूल में आकर अभद्रता करते हैं. इसकी शिकायत की गई है. हमारे ऊपर जानबूझकर आरोप लगाए जा रहे हैं. शिक्षा विभाग के हालातों को लेकर जब जिला शिक्षा अधिकारी से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि शिकायत के आधार पर जांच की जा रही है. जनसुनवाई में शिकायत मिली है. दोषी शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

ADVERTISEMENT

ये भी पढ़ें: महिला की पुकार सुन CM मोहन यादव ने अचानक रुकवा दिया काफिला, क्या है पूरा मामला?

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT