mptak
Search Icon

MP PSC Result: सीहोर जिले की इस बेटी के डिप्टी कलेक्टर बनने पर पूरा शहर क्यों हुआ खुश, लंबा जुलूस निकाला

नवेद जाफरी

ADVERTISEMENT

MP PSC, MP PSC 2021 Result
MP PSC, MP PSC 2021 Result
social share
google news

MP PSC 2021 Result: सीहोर जिले की बेटी पूजा चौहान का चयन भी डिप्टी कलेक्टर पद के लिए हो गया है. मेरिट लिस्ट में उनकी तीसरी रैंक आई है. पूजा चौहान के डिप्टी कलेक्टर बनने की खुश पूरे शहर को इतनी हुई कि खुली जीप में पूजा चौहान को सवार करके पूरे शहर में उनका जुलूस निकाला गया और खुशियां मनाई गईं.

मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग ने 2021 के परीक्षा परिणाम घोषित कर दिए हैं, जिसमें सीहोर जिले की बकतरा में रहने वाले किराना व्यापारी की बेटी पूजा चौहान का चयन डिप्टी कलेक्टर की लिए हुआ है. उन्होंने पूरे मध्य प्रदेश में तीसरी रैंक हासिल की है. जिसके बाद बकतरा में जुलूस निकाला गया. जिसमें कई लोग शामिल हुए. जगह-जगह लोगों ने पूजा चौहान और उनके परिवार के लोगों का भव्य स्वागत किया.

किराना व्यापारी की बेटी बनी डिप्टी कलेक्टर

जानकारी के अनुसार मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग के 2021 के परीक्षा परिणाम में सीहोर जिले के छोटे से गांव बकतरा की रहने वाली पूजा चौहान का चयन डिप्टी कलेक्टर के लिए हुआ है. उन्होंने पूरे मध्यप्रदेश में 920 अंको के साथ तीसरी रैंक का हासिल की है. पूजा के पिता राजेंद्र चौहान किराना व्यापारी हैं और कृषि क्षेत्र से भी जुड़े हुए हैं. पूजा का चयन दूसरे प्रयास में हुआ है. इससे पहले 2020 में उनका इंटरव्यू नहीं हो सका था. पूजा ने निराश नहीं होकर कढ़ी मेहनत करते हुए दूसरी बार सफलता को प्राप्त कर लिया है. पूजा का संयुक्त परिवार है. परिवार में चार भाई-बहन है. वह परिवार में तीसरे नंबर की है.

प्रदेश में आया तीसरा स्थान, ढोल ढमाकों के साथ निकाला जुलूस

पूजा चौहान ने भोपाल और इंदौर में रहकर पढ़ाई की है. उनके डिप्टी कलेक्टर के चयन की सूचना मिलते ही गांव भर में ढोल-नगाड़ों के साथ जुलूस निकालते हुए स्वागत किया गया. जमकर आतिशबाजी की गई, घर पर बधाई देने के लिए लोगों का तांता लगा रहा.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पूजा का बचपन से ही कलेक्टर बनने का सपना था

पूजा चौहान ने एमपी तक से फोन पर बातचीत में बताया कि डिप्टी कलेक्टर के चयन को लेकर काफी उत्साहित और खुश हैं. बचपन से ही कलेक्टर बनने का सपना था. इसके लिए वह लगातार मेहनत कर रही थीं. माता-पिता परिवार के लोगों ने काफी सपोर्ट किया. जिसका परिणाम है कि आज मेरा चयन हुआ है. इसका श्रेय में अपने पूरे परिवार को देती हूं. पूजा ने गांव में छठी और सातवीं की परीक्षा पास करने के बाद भोपाल और इंदौर में रहकर पढ़ाई की है.

ये भी पढ़ें- Sehore: टॉपर्स की लिस्ट में क्यों हो रही है सीहोर की इस नायब तहसीलदार की इतनी चर्चा, रिजल्ट के बाद क्या बन गई?

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT