mptak
Search Icon

इंदौर में में साड़ी मैराथन में देर से पहुंचे CM मोहन यादव तो नाराज हो गईं लाड़ली बहनें

धर्मेंद्र कुमार शर्मा

ADVERTISEMENT

इंदौर के नेहरू स्टेडियम में होने वाले साड़ी मैराथन देरी होने पर लाड़ली बहनें नाराज हो गईं और जब मुख्यमंत्री पहुंचे तो पूरा स्टेडियम खाली हो चुका था.

social share
google news

Indore News: इंदौर के नेहरू स्टेडियम में होने वाले साड़ी मैराथन देरी होने पर लाड़ली बहनें नाराज हो गईं और जब मुख्यमंत्री वहां पहुंचे तो पूरा स्टेडियम खाली हो गया. दोपहर 4 बजे का समय देने के बाद मुख्यमंत्री 8 बजे के बाद पहुंचे, सीएम मोहन यादव के ना पहुंचने से महिलाएं नाराज हो गईं. कार्यक्रम में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव मुख्य अतिथि के रूप में शामिल शामिल हुए. मुख्यमंत्री ने दिव्यांगजनों के रोजगार मेले में चयनित युवाओं को नियुक्ति पत्र भी दिये गए.

वन भारत सारी वॉकथान में दोपहर से शामिल महिलाए सीएम की लेटलाटिफ़ी से उल्टे पैर लौट गईं. महिलाओं से खचाखच भरा पूरा स्टेडियम खाली हो गया था. वन भारत सारी वॉकथान कार्यक्रम हुआ. असफल सामाजिक संगठन महिलाओं का सब्र हुआ खत्म सीएम के इंतजार से नाराज़ नजर आ रही थी. महिला महिलाओं की टीस कार्यक्रम में झलकी. देर शाम होने से महिलाओं की संख्या कार्यक्रम में घट गई थी.

इंदौर में हुआ अनोखा आयोजन

इंदौर के नेहरू स्टेडियम में होने वाले साड़ी मैराथन में मुख्यमंत्री के देर से आने के कारण पूरा स्टेडियम खाली हो गया. 4 बजे के समय देने और अभी तक कम नहीं पहुंचे. वन भारत अभियान के तहत आत्मनिर्भर नारी, गर्व से पहने साड़ी के ध्येय को लेकर इंदौर में अनूठा आयोजन हुआ, जिसमें परम्परागत वेषभूषा (साड़ी) में इंदौर की 25 हजार महिलाओं वाकथॉन में हिस्सा लिया, ये वॉकथान इंदौर के नेहरू स्टेडियम से प्रारंभ होकर वापस नेहरू स्टेडियम में ही सम्पन्न हुई. 

इंदौर में हुई अनोखी वॉकथान

वैसे तो अपने कई वॉकथान देखी होगी, लेकिन इंदौर में गुरुवार को एक अनोखी वॉकथान आयोजित की गई थी, जिसमें शहर की 40 हजार से अधिक महिलाएं साड़ी पहनकर शामिल हुई. जिसे देखने भी बढ़ी संख्या में लोग मौजूद रहे. इस अनूठे और अभिनव आयोजन के लिये जिला प्रशासन द्वारा व्यापक तैयारियां की गई थीं. इस दौरान मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव भी मुख्य अतिथि के तौर पर कार्यक्रम में शामिल हुए. 

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

यह भी देखे...

3 बजे से इंतजार करके थक गईं महिलाएं तो लौटीं

दरअसल ये वॉकेथान अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर वन भारत अभियान के तहत आत्मनिर्भर नारी, गर्व से पहने साड़ी के ध्येय को लेकर आयोजित की गई थी जिसमे 40 हजार महिलाओं ने उत्साह के साथ हिस्सा लिया. इस दौरान मुख्यमंत्री ने सभी महिलाओं को महिला दिवस की बधाई दी. वॉकथान में शामिल सभी मातृशक्ति का उत्साहवर्धन किया. लेकिन मुख्यमंत्री के लेट होने के कारण कई महिलाओं  सभा स्थल छोड़कर चली गई. जब दरवाजे के गेट लगाया तो महिलाओं गेट पर लगे ताले को तोड़ दिया देखा जाए. 

वही वॉकथान का समय 4 बजे से था, लेकिन मुख्यमंत्री 3 घंटे लेट कार्यक्रम में आये इससे पहले कई महिलाएं 3 बजे से इंतजार करते हुए अपने घर रवाना हो गई, साथ ही कार्यक्रम स्थल के गेट पर ताला लगने से महिलाओं ने जमकर हंगामा कर दिया और बाहर के बाहर ही कई महिलाएं अपने घर लौट गई.

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT