mptak
Search Icon

Hathras Stampede: हाथरस कांड वाले 'भोलेबाबा' का ग्वालियर में बना भव्य आश्रम, पुलिस ने की छापामार कार्रवाई

हेमंत शर्मा

ADVERTISEMENT

Hathras Satsang Stampede: हाथरस कांड में जिन भोले बाबा उर्फ नारायण हरि साकार के सत्संग में 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई. उनका एक आलीशान आश्रम ग्वालियर में भी है. इस घटना के बाद ग्वालियर के इस आश्रम से बाबा का नाम मिटा दिया गया है.

social share
google news

Hathras Satsang Stampede: हाथरस कांड में जिन भोले बाबा उर्फ नारायण हरि साकार के सत्संग में 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई. उनका एक आलीशान आश्रम ग्वालियर में भी है. इस घटना के बाद ग्वालियर के इस आश्रम से बाबा का नाम मिटा दिया गया है. ये आश्रम ग्वालियर के झंडा का पुरा गांव के हरि विहार में है. असल में, ग्वालियर पुलिस ने हाथरस हादसे के बाद अलर्ट मूड में आ गई है. पुलिस ने नारायण हरि के आश्रम पर छापामार कार्रवाई की है. देखिए इस पर खास वीडियो रिपोर्ट... 

हाथरस में हुए हादसे के बाद अब ग्वालियर पुलिस भी अलर्ट मोड में आ गई है. ग्वालियर के तिगरा रोड स्थित झंडे का पुरा गांव में नारायण हरि के आश्रम की जानकारी मिलने पर पुलिस यहां पहुंची, लेकिन मौके पर पुलिस को कोई भी नहीं मिला. हाथरस में नारायण हरि साकार के सत्संग में हुए हादसे में 122 लोगों की जान चली गई.

पुलिस अलर्ट मोड में, साकार हरि के आश्रम पर मारा छापा

मरने वालों में ग्वालियर की 45 वर्षीय महिला राम श्री भी शामिल थी. इस हादसे के बाद ग्वालियर पुलिस अलर्ट मोड में आ गई. पुलिस को इस बात की जानकारी मिली थी कि तिगरा रोड स्थित झंडे का पुरा गांव है नारायण हरि का आश्रम है. यह सूचना मिलते ही तिगरा थाना पुलिस गांव में पहुंच गई. यहां पुलिस ने आश्रम पहुंच कर देखा, तो वहां ताला डला हुआ था. जिस भवन में आश्रम बनाया गया था, उस भवन का मालिक राम अवतार कुशवाहा है.

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

यह भी देखे...

ये भी पढ़ें: हाथरस हादसे के बाद बागेश्वर बाबा की बर्थ डे पर की गई अपील भी नहीं आई काम, भक्तों ने ऐसे बढ़ा दी टेंशन!

राम अवतार के भवन को किराए पर लिया था आश्रम

राम अवतार कुशवाहा से पुलिस ने जब बातचीत की, तो मालूम हुआ कि राम अवतार के भवन को किराए पर लेकर यहां आश्रम बनाया गया था. इस आश्रम में नारायण हरि द्वारा सत्संग भी किया गया था. मार्च 2024 में आश्रम सत्संग हुआ था, लेकिन दो महीने पहले ही यहां से आश्रम को खत्म कर दिया गया और भवन को खाली कर दिया गया. 2 महीने पहले ही यहां से नारायण हरि चले गए. इस मामले में एडिशनल एसपी निरंजन शर्मा ने बताया कि पुलिस द्वारा तसदीक की गई है, अभी वहां पर आश्रम नहीं है, ताले डाले हुए हैं. भवन मालिक ने भवन खाली करवा लिया है, 2 महीने पहले ही नारायण हरि बाबा यहां से मैनपुरी के लिए जा चुके थे.

ADVERTISEMENT

ये भी पढ़ें: हाथरस हादसे के बाद बागेश्वर बाबा की बर्थ डे पर की गई अपील भी नहीं आई काम, भक्तों ने ऐसे बढ़ा दी टेंशन!

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT