mptak
Search Icon

मुश्किल में फंस गए अंतर्राष्ट्रीय कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा? कथाओं पर रोक की उठी मांग

नवेद जाफरी

ADVERTISEMENT

Pandit Pradeep Mishra
Pandit Pradeep Mishra Katha
social share
google news

MP News: अपनी शिवकथा और बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले मध्य प्रदेश सीहोर के जाने-माने कथावाचक पं. प्रदीप मिश्रा के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन मामले में चुनाव आयोग से कांग्रेस द्वारा शिकायत की गई है. कांग्रेस पार्टी ने भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त के नाम संबोधित एक पत्र कलेक्टर कार्यालय में सौंपा है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि प्रदीप मिश्रा द्वारा धार्मिक आयेाजन में पार्टी विशेष के लिए वोट मांगने का काम किया जा रहा है. जो चुनाव आदर्श आचार संहिता का खुला उल्लंघन है. इसी पर कांग्रेस पार्टी की तरफ से कार्रवाई की मांग की गई है. 

 जानकारी के अनुसार कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा की चुनाव आयोग से शिकायत की है. कांग्रेस के पूर्व महा सचिव ने प्रेस नोट और शिकायत लेटर जारी कर बताया, " कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा द्वारा अपनी धार्मिक कथाओं में पार्टी विशेष और एक नेता का नाम लेकर वोट देने की अपील करने तथा पार्टी विशेष के नेताओं को बुलाकर धर्म का राजनीतिक करण करते हुए आचार संहिता का उल्लंघन किया है"

 

 

महाराष्ट्र में आयोजित कथा में पार्टी विशेष का प्रचार

जारी प्रेस नोट के मुताबिक पंकज शर्मा ने कहा, "पिछले दिनों सीहोर के कथावाचक प्रदीप मिश्रा ने एक कथा महाराष्ट्र के परतवाड़ा में की थी. जिसके पहले दिन 6 मई को प्रदीप मिश्रा ने सीधे सीधे एक धार्मिक आयोजन में प्रधानमंत्री और भाजपा का नाम लेकर उनके लिए वोट मांगे थे. जो कि चुनाव आयोग के निर्देशों का उल्लंघन है और संविधान विरोधी है."

वे आगे कहते हैं, "इसी कथा में आखिरी दिन 12 मई को अमरावती की निर्दलीय सांसद और भाजपा सांसद प्रत्याशी नवनीत राणा ने भी इसी कथा में धर्म के नाम पर वोट मांगे थे. भाषण दिया था. जिसके लिए इन दोनों के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किए जाने की मांग उन्होंने मुख्य निर्वाचन आयुक्त से की है." 

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

कथाओं पर रोक लगाने की मांग

पंकज शर्मा ने आगे कहा, "कथावाचक प्रदीप मिश्रा पहले भी देश के संविधान को बदलने, लोकतंत्र को खत्म करने और हिंदू राष्ट्र बनाने संबधी बयान देते रहे हैं. ये जानबूझकर अपनी धार्मिक कथाओं में भाजपा नेताओं को बुलाकर धर्म के नाम पर वोट मांगकर गुमराह करने का काम करते हैं. आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा कायम कर लोकसभा चुनाव समाप्त होने तक प्रदीप मिश्रा की सभी कथाओं पर रोक लगाए जाने और कार्रवाई की मांग की है".

ये भी पढ़ें: Madhya Pradesh News Live: राजामाता माधवीराजे सिंधिया को श्रद्धांजलि देने पहुंचे लोकसभा स्पीकर, जयविलास में फिर शोक सभा

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT