mptak
Search Icon

कूनो नेशनल पार्क में विदेशी चीतों को देखने नहीं जा सकेंगे पर्यटक, जानें क्या है कारण

खेमराज दुबे

ADVERTISEMENT

kuno national park
kuno national park
social share
google news

Kuno National Park: देश की धरती पर 70 साल बाद लौटे रफ्तार के राजा चीतों के इकलौते घर श्योपुर स्थित कूनो नेशनल पार्क में आगामी 3 माह के लिए प्रवेश बंद कर दिया गया है. इस वर्ष कूनो में दो गेटों ही से प्रवेश दिया गया था. जिसमें कुल 1611 पर्यटकों ने पहुंचकर वन्यजीवों को देखा. जिनमें से 3 विदेशी पर्यटक भी शामिल थे. अब कूनो पार्क में पर्यटकों को एक अक्टूबर से प्रवेश दिया जायेगा. उम्मीद की जा रही है कि कूनो के खुले जंगल में पर्यटकों को चीतों के दीदार भी हो सकेंगे.

कूनो नेशनल पार्क में आज शुक्रवार को पर्यटन वर्ष समाप्त हो गया है. जिसके तहत शासन की गाइड लाइन के मुताबिक देशभर के सभी राष्ट्रीय उद्यानो में प्रवेश प्रतिबंधित रहता है. कूनो पार्क अंतर्गत वर्ष 2022-23 (1 अक्टूबर 2022 से 30 जून 2023) में कूनो प्रबंधन द्वारा केन्द्र के निर्देश पर पीपलबाडी एवं अहेरा गेट के प्रवेश द्वार को ही खोला गया था.

बंद हुआ कूनो नेशनल पार्क
वर्तमान में कूनो के खुले और विशाल जंगल में 8 चीते आजाद कर दिये गये हैं, लेकिन उन्हें देखने के लिए अभी थोड़ा इंतजार करना होगा. दरअसल कूनो नेशनल पार्क में चीतों के दीदार से पहले ही मानसून के चलते इस नेशनल पार्क को बंद कर दिया गया है. उम्मीद जताई जा रही है कि जैसे ही 1 अक्टूबर को कूनो नेशनल पार्क के गेट खुलेंगे तो चीतों की संख्या में वृद्धि होगी साथ ही केन्द्र सरकार द्वारा चीतों को देखने के लिए भी गाइड लाइन तैयार कर ली जायेंगी.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पर्यटकों की संख्या में हुई बढ़ोतरी
देश और दुनिया में चीता पुर्नःस्थापना को लेकर चर्चा में रहा कूनो नेशनल पार्क अब पर्यटकों से गुले गुलजार होता दिखाई दे रहा है. कूनो नेशनल पार्क के डीएफओ प्रकाश कुमार वर्मा का कहना है कि पार्क में पर्यटकों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है. यह अच्छी खबर है, आने वाले समय में चीतों को देखने के लिए देशभर के पर्यटक यहां पहुँचेंगे. इस वर्ष दो गेटों से प्रवेश दिया गया था, जिनमें कुल 1611 पर्यटकों ने अपनी आमद दर्ज कराई गई है. जिनमें विदेशी सैलानी भी शामिल हैं.

पांच साल में दो गुनी हुई पर्यटकों की संख्या
बीते पांच वर्षों में इस बार पर्यटकों की संख्या में दोगुनी वृद्धि देखी गई है. इसका सबसे बड़ा कारण चीते ही हैं. अब जल्द ही देश के इकलोते चीतों के घर को देखने के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक यहां आयेंगे. जिससे इस क्षेत्र में भी विकास के द्वार खुलेंगे. विगत पांच वर्षों में पर्यटकों की संख्या पर नजर डालें तो वर्ष 2018-19 में 437, 2019-20 में 804, 2020-21 में 903, 2021-22 में 1211 तो इस वर्ष 2022-23 में 1611 पर्यटकों ने कूनो सेंचुरी में भ्रमण किया है.

ADVERTISEMENT

ये भी पढ़ें: 1 जुलाई से 30 सितम्बर तक पर्यटकों के लिए बंद रहेगा कान्हा टाइगर रिज़र्व, जानें क्या है वजह

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT