धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कथावाचकों से क्यों की जंगलों में जाने की अपील? जानें

जैद अहमद शेख

ADVERTISEMENT

dhirendra shastri appeal, mp news, bageshwar dham
dhirendra shastri appeal, mp news, bageshwar dham
social share
google news

Bageshwar Dham: पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री एक बार फिर हुंकार भरते हुए दिखाई दिए. धीरेंद्र शास्त्री ने देशभर के कथावाचकों से अपील करते हुए कहा कि वनों में जाएं. उन्होंने कहा कि सिर्फ शहरों में कथा करने से धर्म नहीं बचने वाला है. धीरेंद्र शास्त्री ने तेलंगाना के सीएम केसीआर द्वारा बाबाओं को मठों में रहने वाले बयान भी जवाब दिया.

पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री इन दिनों बड़वानी में अपनी कथा कर रहे हैं. बड़वानी में धीरेंद्र शास्त्री की कथा सुनने के लिए बड़ीं संख्या में श्रद्धालु पहुंचे. इस दौरान बारिश की वजह से कार्यक्रम काफी लेट हो गया. धीरेंद्र शास्त्री तय कार्यक्रम के मुताबिक 5 बजे पहुंचने वाले थे, लेकिन रात 11 बजे पहुंचे. इसके बाद आधी रात में ही दरबार लगाया गया. इस दौरान बारिश होती रही, लेकिन श्रद्धालु देर रात तक जुटे रहे.

कथावाचकों से की अपील
इस दौरान धीरेंद्र शास्त्री ने धर्मांतरण के मुद्दे पर भी बातचीत की. धर्मांतरण के मुद्दे पर उन्हो्ंने कहा, ‘हिंदू जाग रहा है और एकत्रित हो रहा है. अब बहुत जल्द धर्मांतरण वालों की ठठरी और गठरी दोनों बंध जाएगी. इसके साथ ही पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने देशभर के कथावाचकों से अपील करते हुए कहा कि शहरों की कथाओं से धर्म नहीं बचना है. आओ जिन लोगों को हमेशा उपेक्षित रखा है उन लोगों के पास जाएं, ऐसे वनों में रहने वाले वनवासियों के बीच रहना चाहिए.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

साधु काम लोगों को जगाना है
दिव्य दरबार के बाद पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री मीडिया से रूबरू हुए. तेलंगाना के सीएम केसीआर द्वारा बाबाओं को मठों में रहने बयान पर धीरेंद्र शास्त्री ने जवाब देते हुए कहा कि साधु का काम लोगों को जगाना है. उन्होंने कहा कि अगर हम वनों में नहीं जाएंगे तो लोगों को जगाएंगे कैसे. साथ ही उन्होंने कहा कि भगवान राम तब राम हुए जब वह वन गए. वन गए तो राम बन गए.

ये भी पढ़ें: आंखों के इलाज के लिए नहीं थे पैसे, फिर धीरेंद्र शास्त्री ने मंच से किया ऐसा काम कि हर कोई करने लगा तारीफ

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT