mptak
Search Icon

हरदा ब्लास्ट के बाद थम नहीं रहा लोगों का गुस्सा; सड़क पर उतरे, अब रख दी ये बड़ी डिमांड

लोमेश कुमार गौर

ADVERTISEMENT

Harda Blast: मध्य प्रदेश के हरदा जिले में मंगलवार को पटाखा फैक्ट्री में हुए विस्फोट और उसके बाद आग लगने से अब तक 13 लोगों की दर्दनाक मौत हो चुकी है. मोहन सरकार ने कार्रवाई करते हुए डीएम और एसपी को हटा दिया है. इसके बाद भी लोगों का गुस्सा कम नहीं हो रहा है. अब वह सड़क पर उतर गए हैं.

social share
google news

Harda Blast: मध्य प्रदेश के हरदा जिले में मंगलवार को पटाखा फैक्ट्री में हुए विस्फोट और उसके बाद आग लगने से अब तक 13 लोगों की दर्दनाक मौत हो चुकी है. मोहन सरकार ने इसके बाद कार्रवाई करते हुए डीएम और एसपी को हटा दिया है. इसके बाद भी लोगों का गुस्सा कम नहीं हो रहा है. अब वह सड़क पर उतर गए हैं. लोगों ने रसायन युक्त मलबे के कारण क्षेत्र में अत्यधिक दुर्गंध की शिकायत की है. उनकी मांग है कि न्यायिक हिरासत में चल रहे आरोपी राजेश अग्रवाल की हरदा शहर के बाहरी इलाके में सील की गई दो और पटाखा फैक्ट्रियों को स्थायी रूप से सील किया जाए.

पटाखा फैक्ट्री में हुए विस्फोट के बाद हुए हादसे के बाद भी पीड़ितों की समस्याओं का निराकरण नहीं हो पा रहा है. घटना के पांचवें दिन भी लोग परेशान हो रहे हैं. इसी से नाराज लोगों ने बैरागढ़ के पास चक्काजाम कर दिया. करीब डेढ़ घंटे तक चक्काजाम चलता रहा. एसडीएम केसी परते के आश्वाशन के बाद चक्काजाम समाप्त किया गया. हरदा जिले में फटाका विस्फोट मामले में पीड़ितों के साथ अब स्थानीय लोग भी सड़क पर उतर आये हैं. हरदा धमाके के मामले में स्थानीय निवासियों और पीड़ितों ने करीब डेढ़ घंटे तक चक्काजाम किया. उन्होंने जिला प्रशासन से पीड़ितों के साथ-साथ अपनी अन्य मांगों को लेकर चक्का जाम और प्रदर्शन किया.

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

यह भी देखे...

ये भी पढ़ें: Harda Blast: आधी रात को नहर में किसने बहाए हजारों सुतली बम? किसान ने बनाया VIDEO, मचा बवाल

SDM केसी परते ने संभाला मोर्चा

स्थानीय निवासियों का कहना है कि प्रशासन द्वारा उनको सुविधा उपलब्ध कराई जाएं और वहां कभी भविष्य में फैक्ट्री नहीं होने इसकी व्यवस्था की जाए. करीब डेढ़ घंटे तक हरदा मगरदा मार्ग पर स्थित बैरागढ़ रोड पर चक्का जाम किया. वहां के निवासियों का कहना है कि इस मामले के सही जांच की जाए और मलबे को वहां से हटाया जाए. क्योंकि उसके कारण वहां पर प्रदूषण बढ़ रहा है. क्योंकि उनके बच्चों और उनके स्वास्थ्य पर इसका बुरा असर पड़ेगा. हरदा एसडीएम केसी परते ने उनसे चर्चा कर आश्वास्त किया है… देखिए डिटेल वीडियो रिपोर्ट…

ये भी पढ़ें: Harda Blast: पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट के बाद बदले गए हरदा के SP-कलेक्टर, अब ये अफसर संभालेंगे जिम्मा

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT