mptak
Search Icon

MP Weather: श्योपुर में बाढ़ जैसे हालात, इतनी बरसात हो गई कि अब सड़कों पर बहने लगी नदी

खेमराज दुबे

ADVERTISEMENT

MP Weather: देश के तमाम इलाको के साथ ही मध्यप्रदेश के श्योपुर में पिछले दो दिनों से रूक-रुककर हो रही तेज बारिश अब आफत बन गई है. शहर को कदवाल और सीप नदी में आए उफान के चलते निचली बस्तियों में बाढ़ का खतरा मंडराया हुआ है.

social share
google news

MP Weather: देश के तमाम इलाको के साथ ही मध्यप्रदेश के श्योपुर में पिछले दो दिनों से रूक-रुककर हो रही तेज बारिश अब आफत बन गई है. शहर को कदवाल और सीप नदी में आए उफान के चलते निचली बस्तियों में बाढ़ का खतरा मंडराया हुआ है. इसी बीच सीप नदी के उफान में डूबे गुप्तेश्वर महादेव मंदिर में फंसे एक संत को प्रशासन द्वारा रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाला गया है. प्रशासन ने सभी इलाको में अलर्ट जारी कर चौकसी बढ़ा दी है.

श्योपुर जिले के अधिकांश हिस्सों में दो दिनों से बारिश का दौर जारी है. यही वजह है कि अब नदी नाले उफन गए और हालात बिगड़ने लगे है. शहर से सटी कदवाल और सीप नदियों में तेज उफान आने से शहर की निचली बस्तियों में बाढ़ की घण्टी बज गई है. सीप नदी की बाढ़ में प्राचीन गुप्तेश्वर महादेव मंदिर पूरी तरह डूब गया और मंदिर में एक संत शुक्रवार रात से फंस गए.

सूचना मिलने के बाद एसडीआर की टीम ने अल सुबह एक घण्टे का रेस्क्यू कर संत को बोट के सहारे सुरक्षित बाहर निकाल लिया. शहर के वार्ड क्रमांक दो की निचली बस्तियों में पानी भरने के हालातों को देख प्रशासन ने कुछ परिवारों को रात में ही सुरक्षित जगह शिफ्ट कर दिया. प्रशासन और आपदा राहत दल की टीमें लगातार चौकसी में जुटी हैं. उधर पार्वती नदी में उफान आने से अब खातौली पुल से ऊपर पानी आ जाने से श्योपुर कोटा सड़क मार्ग भी बंद हो गया है.

बंजारा डैम ओवर फ्लो हो गया, सड़कों पर बह रही नदी

मध्यप्रदेश के श्योपुर में मानसून की हलचल के बीच झमाझम बारिश का दौर जारी है. बीती रात भर से हो रही हल्की और रिमझिम बारिश ने भीषण गर्मी से लोगो को बड़ी राहत दी है,लेकिन बारिश से शहर की सीप नदी पर बने बंजारा डैम में उफान लाकर लोगो की नींद भी उड़ा दी है. यही वजह है कि प्रशासन ने सभी इलाको में सतर्कता बढ़ा दी है.

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

यह भी देखे...

श्योपुर शहर की जीवन दायनी कही जाने वाली सीप नदी पर बने बंजारा डैम ओवरफ्लो होकर बह रहा है.मानसून एक्टिव होने के बाद हुई 24 घण्टे की बारिश से ही डैम उफन गया है. डैम के ऊपर चादर चलने का दृश्य भले ही सुहावना नजर आ रहा है,लेकिन यहां की निचली बस्तियों में पानी भर जाने से लोगों की मुसीबत बढ़ गई है. बोट के सहारे लोगों को निकालने का अभियान शुरू किया गया है.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT