क्राइम मुख्य खबरें

कांग्रेस नेता नरेंद्र शर्मा को भ्रष्टाचार के मामले में 4 साल की सजा, मांगी थी 25 लाख की रिश्वत: जानें

Khargon Crime News: मध्य प्रदेश के खरगोन में मंडलेश्वर जिला न्यायालय ने भ्रष्टाचार के मामले में सनावद नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष और कांग्रेस नेता नरेंद्र शर्मा उर्फ लाली को 4 साल की सजा सुनाई है, इसके साथ ही डेढ़ लाख का जुर्माने भी ठोंका गया है. लाली शर्मा ने नगरपालिक अध्यक्ष रहते हुए बिल्डिंग निर्माण […]
Congress leader Narendra Sharma sentenced to 4 years in corruption case court also imposed fine of 1.5 lakh
मिठाई खाते हुए आरोपी कांग्रेस नेता नरेंद्र शर्मा. फोटो- उमेश रेवलिया

Khargon Crime News: मध्य प्रदेश के खरगोन में मंडलेश्वर जिला न्यायालय ने भ्रष्टाचार के मामले में सनावद नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष और कांग्रेस नेता नरेंद्र शर्मा उर्फ लाली को 4 साल की सजा सुनाई है, इसके साथ ही डेढ़ लाख का जुर्माने भी ठोंका गया है. लाली शर्मा ने नगरपालिक अध्यक्ष रहते हुए बिल्डिंग निर्माण पर रोक हटाने के लिए 25 लाख रुपये रिश्वत मांगी थी. इसके बाद लोकायुक्त की टीम ने उसे 10 लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा था.

मंडलेश्वर जिला कोर्ट के विशेष न्यायाधीश संजीव कुमार भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम मंडलेश्वर ने लोकायुक्त इंदौर के विशेष प्रकरण पर अपना फैसला सुनाया है. मंगलवार की शाम सुनाए फैसले में कोर्ट ने कहा लोकायुक्त कार्यालय इंदौर के विशेष प्रकरण 10/ 2016 एवं अपराध क्रमांक 537/2015 में आरोपी नरेंद्र शर्मा उर्फ लाली नगर पालिका परिषद सनावद में अध्यक्ष के पद पर पदस्थ था.

10 लाख रुपये की रिश्वत लेते पकड़ा था
आरोपी द्वारा फरियादी प्रवीण सोलंकी निवासी नर्मदा विहार कॉलोनी सनावद में निर्माणाधीन कमर्शियल बिल्डिंग के निर्माण पर लगी रोक हटाने के एवज में 10 लाख की रिश्वत राशि लेते हुए आरोपी नरेंद्र शर्मा उर्फ लाली को रंगे हाथों पकड़ा गया था.

कोर्ट ने आरोपी नरेंद्र शर्मा को धारा 7 में 3 वर्ष का सश्रम कारावास एवं ₹ 50 हजार अर्थदंड से एवं धारा 13 (1) डी, 13 (2), में 4 वर्ष का सश्रम कारावास एवं एक लाख अर्थदंड लगाया है. अर्थदंड नहीं अदा न करने पर 6-6 माह के अतिरिक्त सश्रम कारावास के दंड से दंडित किया गया है. प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी प्रकाश सोलंकी विशेष लोक अभियोजक द्वारा की गई.

ये भी पढ़ें: बागेश्वर धाम वाले पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के छोटे भाई शालिग्राम पर SC-ST एक्ट में FIR, गिरफ्तारी बाकी!

2015 में लोकायुक्त इंदौर ने की थी कार्रवाई
31 अक्टूबर 2015 को लोकायुक्त पुलिस ने विधायक हितेंद्र सिंह सोलंकी के भाई प्रवीण सोलंकी की शिकायत पर ये कार्रवाई की थी। लाली ने प्रवीण सोलंकी के नवीन कॉम्प्लेक्स निर्माण के एवज में 10 लाख रुपए के रिश्वत ली थी. सनावद में मां नर्मदा विहार कॉलोनी में 10 हजार स्क्वेयर फीट जमीन पर कॉलोनी को मंजूरी देने के एवज में रिश्वत मांगी गई थी.

ये भी पढ़ें: कुबरेश्वर धाम में महिला से मारपीट, पंडित प्रदीप मिश्रा के परिवार और समिति पर आरोप!

दरअसल, सनावद में प्रस्तावित इस कॉलोनी को टाउन एंड कंट्री प्लानिंग और नगरपालिका सीएमओ से मंजूरी मिल चुकी थी. तत्कालीन नपाध्यक्ष नरेंद्र शर्मा उर्फ लाली जानबूझकर इसमें बाधा खड़ी कर रहे थे. उन्होंने जांच कमेटी का गठन कर दिया था और 25 लाख रुपये रिश्वत देने पर ही कॉलोनी के लिए मंजूरी देने की बात पर अड़ गये थे.

मध्य प्रदेश की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए Mp Tak पर क्लिक करें
बागेश्वर धाम में कैसे लगाई जाती है अर्जी? जिससे खुलता है भूत-भविष्य का राज… शुभमन गिल के सेंचुरी मारते ही सारा से रिलेशन पर क्यों हो रही चर्चा! क्या है वो 100 रुपये की शर्त, जिसके बाद शुभमन हर दूसरे मैच में ठोक रहे शतक MP की लाड़ली बहनों को CM शिवराज देगें सौगात, 1250 रुपए से ज्यादा आ सकती है राशि? शर्मिला की मुस्कान पर दिल हार बैठे थे क्रिकेटर पटौदी, फिर बनाया भोपाल की बेगम टीम इंडिया के लिए लकी है इंदौर का ये मैदान, अब तक एक भी मैच नहीं हारा भारत पहली नजर में अमिताभ को दिल दे बैठी थीं जया, बेहद प्यारी है ये लव स्टोरी भोपाल में जन्मी और पढ़ी-लिखी है ये लेडी IAS, आज पूरे देश में हाे रही इनकी चर्चा ‘लालबत्ती नहीं मिलेगी तब तक नहीं…’ भावुक कर देगी मजदूर से DSP बनने की ये कहानी ओरछा में कैसे पहुंचे थे भगवान राम? 500 वर्ष पुराना है इतिहास MP की वो एक्ट्रेस, जिसे गूगल पर सबसे ज़्यादा किया गया सर्च? कौन हैं निशा बांगरे? जिन्होंने शिवराज सरकार को दे डाली चेतावनी MP के इस टाइगर रिजर्व में हाथियों की क्यों हो रही आवभगत, जानें MP का वो मंदिर जिसके सामने ट्रेन की स्पीड हो जाती स्लो! यहां भविष्य का होता है आभास एशिया कप में ‘प्लेयर ऑफ द सीरीज’ मिलने के बाद बागेश्वर धाम पहुंचा ये क्रिकेटर ओंकारेश्वर में आदि शंकराचार्य की सबसे ऊंची प्रतिमा तैयार, जानें नाम और ऊंचाई MP के इस मंदिर से है पुरानी संसद का खास कनेक्शन, जानें क्यों हो रही चर्चा? एक स्वप्न से जुड़ा है इस गणपति मंदिर के निर्माण का इतिहास, जानें रोचक किस्सा मध्य प्रदेश में यहां पर है हत्यारी खोह, जानें इसके पीछे की दिलचस्प कहानी ओंकारेश्वर में बाढ़ से मची तबाही क्या प्रशासन की लापरवाही का नतीजा? जानें