मुख्य खबरें वीडियो

सिंधिया ने अटकलों को किया खारिज, कहा- हमारे CM शिवराज सिंह, उन्हीं के नेतृत्व में मिलकर काम करेंगे

Jyotiraditya Scindia, rejected speculations CM Shivraj Singh Chauhan work together under his leadership
फोटो: एमपी तक.

MP Tak Baithak: मध्य प्रदेश बीजेपी के सबसे चमकदार चेहरे और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने MP Tak की वेबसाइट लॉन्चिंग के मौके पर कार्यक्रम ‘बैठक’ में लाइव जुड़े और खास बातचीत की. इस मौके पर उन्होंने विपक्ष द्वारा उठाए जा रहे सवालों का बखूबी जवाब दिया. साथ ही मध्य प्रदेश में सीएम का चेहरा बदलने और खुद को उस रेस में पाते हैं या नहीं, इसे साफ तौर पर खारिज करते हुए सिंधिया ने कहा- हमारे सीएम शिवराज सिंह चौहान हैं और उनके नेतृत्व में सब मिलकर काम करेंगे. सिंधिया से हमारी सहयोगी आकांक्षा ठाकुर ने खास बातचीत की. पढ़िए बातचीत के मुख्य अंश…

सवाल: इस साल मप्र में विधानसभा चुनाव हैं, मुख्यमंत्री कौन होगा, बीजेपी में सीएम चेहरे को लेकर अटकलें लगती हैं?
जवाब: अटकलें किस बात की हैं, हमारे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हैं. जहां तक मेरी बात है तो अगर आपने हमारे अतीत को देखा है, मेरे पूज्य पिता के अतीत को देखा है और मेरी आजी अम्मा पूर्व राजमाता साहब को देखा है तो हमारा लक्ष्य जनसेवा का रहा है, राजनीति एक माध्यम है उस लक्ष्य की पूर्ति के लिए उससे उससे ज्यादा नहीं. मैं मानता हूं शिवराज सिंह जी के नेतृत्व में प्रदेश अग्रसर हो रहा है, मध्यप्रदेश विकसित हो रहा है, सामाजिक विकास में आगे बढ़ना है. उनके नेतृत्व में उनके साथ मिलकर हम लोग कार्य करेंगे.

सवाल: जूनियर सिंधिया की राजनीति की कब एंट्री होगी?
जवाब: मेरा पुत्र (महाआर्यमन सिंधिया) अपने क्षेत्र में अपने आधार पर अपना कार्य कर रहा है. अगर आप कहें तो मैं बताऊं कि हमारे परिवार में एक अलिखित नियम है कि राजनीति में एक समय में एक परिवार का एक ही सदस्य रहेगा. मैं मानता हूं कि वह एक सुखद सोच है, विचारधारा है. उसी के आधार पर हम कार्य कर रहे हैं.

सवाल: विपक्ष सरकार के काम पर सवाल उठाता है और कहता है कि सब दिखावा है?
जवाब: विपक्ष खुद तो कुछ कर नहीं पाता है. जो अपने आप को जोड़ नहीं पाते, वह दूसरों को जोड़ने की कवायद कैसे कर पाएगा. राज्य को प्रगति और विकास के पथ पर ले जाने की सोच विचार धारा कैसे रख पाएगा. हमने 15 महीनों की सरकार देख ली, कोई नाम था तो भ्रष्टाचार का नाम था. अगर कोई नाम था तो घोटालों का नाम था और वही स्थिति आज राष्ट्रीय स्तर पर है. जो देश विश्व पटल पर प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में उभर रहा है, जो देश जो भारत अमृत अपने आजादी के अमृत महोत्सव के में जी-20 की अध्यक्षता कर रहे हैं. जिस समूह के अंदर विश्व की 85% आबादी, 75% व्यापार और 70% जीडीपी का भाग होता है. विपक्ष जैसा कर रहा है, परिणाम भी विपक्ष के लिए जनता की तरफ से दिए जाते हैं, जो वर्तमान में हमें देखने को मिल रहा है.

सवाल: एविएशन के क्षेत्र में मप्र को काफी सौगातें दी हैं?
जवाब: वर्तमान में केवल मप्र या भारत की नहीं बल्कि पूरे विश्व की बात करें तो नागरिक उड्डयन क्षेत्र किसी भी देश के लिए आवागमन ही नहीं, बल्कि अर्थव्यवस्था का अंग बन चुका है. वही परिवर्तन इस सदी में भारत में भी देखने को मिल रहा है प्रधानमंत्री के नेतृत्व में. जो उनकी सोच और विचारधारा है ‘उड़े देश का आम नागरिक’. यह क्षेत्र पहले चुनिंदा लोगों के लिए सीमित रखा जाता था, आज सही मायने में अगर कहूं तो 8 सालों में पीएम मोदी जी के नेतृत्व में इस क्षेत्र का पूर्ण रूप से लोकतांत्रिकरण हो चुका है. हमारे देश में आठ साल पहले 50-55 करोड़ लोग उड़ान भरते थे, अब ये संख्या बढ़कर 123 करोड़ हो गई है. ये मात्र शुरुआत है और ये आगे और बढ़ने वाला है.

मध्य प्रदेश में करीब 450 एयर ट्रैफिक मूवमेंट होता था, जो अब 900 हो गया है. 8 सालों में पैनिट्रेशन और एयर ट्रैफिक और कनेक्टिविटी दोगुना हो चुकी है. पिछले डेढ़ सालों में जब से मुझे ये जिम्मेदारी मिली है, तब से एमपी में कनेक्टिविटी में 60 फीसदी वृद्धि हुई है. आप इंदौर का उदाहरण ले लीजिए तो पहले करीब 12 शहरों से जुड़े थे, लेकिन इंदौर 23 शहरों से जुड़ गया है. ऐसे ही हमारी राजधानी 9 शहरों से जुड़ चुकी है.

  • हम इंदौर को शारजाह जोड़ेंगे.
  • जबलपुर में नई टर्मिनल बिल्डिंग बन रही है.
  • ग्वालियर में 500 करोड़ का 2 लाख हेक्टेयर में नया टर्मिनल बन रहा है.
  • रीवा में एयरपोर्ट शुरू कर रहे हैं, कनेक्टिविटी के लिए.
  • इसके साथ ही उड़ान योजना के तहत छोटे शहरों में कनेक्टिविटी बढ़ा रहे हैं.
  • इंदौर के बाद अब भोपाल में कार्गो की शुरुआत कर दी है.
इंदौर की सड़कों पर युवक ने कार से किया स्टंट, पुलिस ने ऐसे पहुंचाया जेल… पिता की मौत के बाद बाबा महाकाल की शरण में उमेश यादव, मांगा आशीर्वाद… रवीना टंडन की बेटी की फिल्म की शूटिंग में ऐसा पड़ा विघ्न, जानें पेपर लीक कांड में पलट गए शिक्षा मंत्री, घटना के होने से ही किया इनकार एक गांव ऐसा, जहां 400 साल से पैदा नहीं हुए बच्चे, वजह हैरान करने वाली मौसम की मार ने निकाले किसानों के आंसू, प्रदेश भर में हालात खराब धीरेंद्र शास्त्री ने क्यों कहा- जिसे खुजली है आए, हम गोली दे देंगे..? लाडली बहना योजना का लाभ लेने के लिए क्या करना होगा? जानें पूरी डिटेल फसल तैयार, कटने को थी, पर किसानों के ‘सिर मुड़ाते ओले पड़ गए’ मां निर्मला देवी के 100वां जन्मोत्सव की धूम, 21 देशों के कलाकार जुटे, देखें MP में बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से बैठा किसानों का दिल, देखें तस्वीरें ‘बोट’ एंबुलेंस की शुरुआत, नर्मदा किनारे बसे लोगों को देगी जीवनदान रवीना टंडन ने भोजपुर मंदिर पहुंचकर पूजा-अर्चना की, देखें तस्वीरें साम्प्रदायिक सौहार्द की मिसाल हैं अमजद, खुद से पहले गाय को कराते हैं भोजन काॅन्स्टेबल ने डीएसपी के सामने दिखाए तेवर, वर्दी फाड़कर लगा चिल्लाने महू में युवती और युवक की मौत के बाद जमकर हुआ बवाल, देखें तस्वीरें बेमौसम बारिश ने बढ़ाई किसानों की मुश्किलें, देखें बर्बाद हुई फसलें मध्यप्रदेश में सीएम फेस कौन? BJP ने स्पष्ट किया, बताई ये रणनीति स्वाभिमान यात्रा: 16 दिन बाद भी सड़क पर घिसटने को मजबूर दिव्यांग OMG: एक पति का दो पत्नियों में हो गया बंटवारा, एमपी में हुई चौंकाने वाली घटना