mptak
Search Icon

Lok Sabha Election: NDA की सरकार में कृषि मंत्री बनेंगे शिवराज सिंह चौहान? दिल्ली बुलाए गए पूर्व सीएम, चर्चा तेज

एमपी तक

ADVERTISEMENT

शिवराज सिंह चौहान
शिवराज सिंह चौहान
social share
google news

Lok Sabha Election: देश भर में हुए लोकसभा चुनावों में मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी को स्पष्ट बहुमत मिला है.    इसी के साथ ही मध्य प्रदेश की विदिशा लोकसभा सीट से प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ऐतिहासिक जीत दर्ज की है. इस जीत पर सीएम मोहन यादव ने कहा "भाईसाब अब दिल्ली जा रहे हैं"

सीएम मोहन के इस बयान के बाद मतलब साफ है. कि अगर एनडीए की सरकार बनी तो शिवराज भी मोदी कैबिनेट में शामिल होंने वाले हैं. यह बात विधानसभा चुनाव में शिवराज के नेतृत्व में बंपर जीत के बाद ही साफ हो गई थी कि शिवराज को मुख्यमंत्री तो नहीं बनाया गया लेकिन 2024 लोकसभा चुनाव की जीत के बाद केंद्र की राजनीति में सक्रिय होंगे.

केंद्रीय कृषि मंत्री बनेंगे शिवराज?

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लेकर माना जा रहा है कि अगर एनडीए की सरकार बनी तो शिवराज केंद्रीय कृषि मंत्री बन सकते हैं. खुद शिवराज भी हाल ही में इशारा दे चुके हैं कि वह दिल्ली और भोपाल दोनों जगह सक्रिय रहेंगे अब सीएम मोहन ने इशारे ने भी मुहर लगा दी है. 

ये भी पढ़ें:'शिवराज सिंह चौहान बनें देश के PM' कांग्रेस के इस दिग्गज नेता ने ऐसा क्यों कहा?

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

किसकी बनेगी देश में सरकार? 

बता दें कि मध्य प्रदेश में बीजेपी इस बार क्लीन स्वीप कर गई है. कमलनाथ का अभेद किला छिंदवाड़ा भी इस बार ढह गया. बात करें कि देश में कौन सरकार बनाएगा तो 18 वीं लोकसभा के लिए हुए चुनाव में एनडीए को 292 सीटें मिली हैं. लग रहा है कि लगातार तीसरी बार एनडीए की सरकार बनेगी. लेकिन, बीजेपी बहुमत से दूर है. इसलिए एनडीए की सरकार 5 साल चलाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी और नितीश कुमार की जेडीओ के साथ की जरूरत होगी.

इधर इंडिया महागठबंधन भी किसी भी तरीके से सरकार बन जाए. बस उसी कवायद में जुटा है. दोनों ही पार्टी को नीतीश और नायडू की जरूरत है. अब देखना होगा यह दोनों किसके साथ जाते हैं. लेकिन फिलहाल फिहाल तो दोनों ही एनडीए में हैं. 

ADVERTISEMENT

ये भी पढ़ें: Loksabha Election 2024: मध्य प्रदेश से ये सांसद बनेंगे मोदी कैबिनेट में मंत्री? कटेगा पुराने नेताओं का पत्ता? जानें

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT