होशंगाबाद के बीजेपी प्रत्याशी को जीतू पटवारी ने क्यों बता दिया सौदेबाज, शिवराज सरकार से लड़ते-लड़ते बिकने के लगाए आरोप

पीताम्बर जोशी

ADVERTISEMENT

Madhya Pradesh Congress chief Jitu Patwari dismissed the speculation of Kamal Nath joining the BJP. (Screengrab)
Madhya Pradesh Congress chief Jitu Patwari dismissed the speculation of Kamal Nath joining the BJP
social share
google news

Hoshangabad Lok Sabha Seat: होशंगाबाद लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी संजय शर्मा ने आज अपना नामांकन दाखिल किया. कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में सभा को संबोधित करने कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी शामिल हुए. मंच को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी जमकर बरसे. आमसभा को संबोधित करते हुए जीतू पटवारी ने भाजपा प्रत्याशी को जमकर आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति शिवराज सरकार के खिलाफ किसानों की हक की लड़ाई लड़ने भोपाल में खड़ा हुआ वह बिक गया और समझौता करके लोकसभा की टिकट ले आया.

एमएसपी और समर्थन मूल्य की लड़ाई करते-करते सौदा करते हुए दर्शन सिंह बीजेपी में गए और सांसद की टिकट लेकर आए. उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन जब-जब भी हुआ उसको समाप्त करने वाला आज भारतीय जनता पार्टी का प्रत्याशी है. बीजेपी से साठगांठ करने वाला आज भारतीय जनता पार्टी का प्रत्याशी है.

दर्शन चौधरी की छवि पहले मेरी नजर में अच्छी थी लेकिन किसानों से धोखा किया दर्शन चौधरी ने. वही आमसभा में जीतू पटवारी ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव को पर्ची वाला मुख्यमंत्री कहा. सीएम मोहन यादव के छिंदवाड़ा के वायरल वीडियो पर उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ऐसी छोटी और ओछी बात करते हो तो आपका व्यक्तित्व छोटा होता है.

जहां कांग्रेस का विधायक, मोहन यादव वहां के भी सीएम- जीतू पटवारी

जीतू पटवारी ने कहा कि आप प्रदेश की जनता को दो आंखों से नहीं देख सकते. आप मुख्यमंत्री उस क्षेत्र के भी हो जहां कांग्रेस का विधायक बना हुआ है. इस तरह की बात करना ये एहसास कराता है कि मुख्यमंत्री बनने लायक नहीं थे. वोट तो भाजपा को शिवराज जी के चेहरे पर मिला था. यह कहने में मुझे किसी प्रकार की कोई कोताही  नहीं है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

उन्होंने कहा सभा बैठी, चिट्ठी आई, शिवराज जी को दी गई, उनसे कहा गया कि नाम पढ़ो और फिर मोहन यादव जी का नाम उसमें निकला. तो हमारे मुख्यमंत्री की पर्ची के मुख्यमंत्री हैं, ना कि जनता के हैं, ना ही विधायकों के हैं. जीतू पटवारी ने कांग्रेस छोड़ने वालों पर तंज कसते हुए कहा कि जो लोग हमें गालियां और धोखा देकर गए हैं, जब तक मुझे कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता के रूप में मैं अध्यक्ष रहूंगा अब उनके लिए कांग्रेस के दरवाजे नहीं खुलेंगे.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT