mptak
Search Icon

CM मोहन यादव आज जाएंगे दिल्ली, मध्यप्रदेश में मंत्रिमंडल का विस्तार को लेकर सामने आया बड़ा अपडेट

एमपी तक

ADVERTISEMENT

bhopal-general,Mohan Yadav, Shivraj Singh Chouhan, Mohan Yadav Cabinet, Jayant Malaiya, Gopal Bhargava, Vijay Shah, Narayan Singh Kushwaha, Antar Singh Arya, Archana Chitnis, cabinet expansion,Madhya Pradesh news, madhya Pradesh, Cabinet Expansion, MP
bhopal-general,Mohan Yadav, Shivraj Singh Chouhan, Mohan Yadav Cabinet, Jayant Malaiya, Gopal Bhargava, Vijay Shah, Narayan Singh Kushwaha, Antar Singh Arya, Archana Chitnis, cabinet expansion,Madhya Pradesh news, madhya Pradesh, Cabinet Expansion, MP
social share
google news

Madhya Pradesh Cabinet: मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री और दो उप मुख्यमंत्रियों के कार्यभार संभालने के बाद मुख्यमंत्री और पार्टी संगठन को अब मंत्रियों के नाम तय करना है. इसको लेकर पार्टी के साथ ही सीएम मोहन यादव के सामने बड़ी चुनौती है. वैसे तो सारे मंत्रियों के नाम भोपाल से ही फाइनल होंगे, लेकिन प्रस्तावित नामों को लेकर मंथन शुरू हो गया है. सीएम मोहन यादव आज दिल्ली जाएंगे. ऐसा माना जा रहा है कि वे यहां केबिनेट विस्तार को लेकर पार्टी बड़े नेताओं के साथ मंथन करेंगे. हालांकि सूत्रों की माने तो मंत्रियों के नाम दिल्ली से ही तय होंगे.

दरअसल आज सीएम मोहन यादव के सोशल मीडिया एक्स पर एक पोस्ट शेयर की गई. जिसके बाद अंदाजा लगाया जा रहा है कि जल्द ही केबिनेट का विस्तार किया जाएगा. सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा “मुख्यमंत्री मोहन यादव आज उज्जैन संभाग के सभी अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे. उसके बाद प्रदेश के बाकी सभी संभागों में बैठक करेंगे. मकर संक्रांति पर 14 जनवरी को मोहन सरकार की कैबिनेट बैठक का आयोजन उज्जैन में किया जाएगा.

आपको बता दें कि आज सीएम मोहन यादव दिल्ली जा रहे हैं. ऐसे में उनकी इस पोस्ट से माना जा रहा है कि 14 जनवरी को होने वाली केबिनेट बैठक में मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के अलावा मंत्री भी भाग ले सकते हैं. यही कारण है कि प्रदेश में केबिनेट विस्तार की सुगबुगाहट तेज हो गई है.

ये भी पढ़ें: MP में कब होगा CM मोहन कैबिनेट का विस्तार? सामने आया ये बड़ा अपडेट

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

दिग्गज को लेकर फंसा पेंच

आपको बता दें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के दिग्गज भी मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले चेहरों को लेकर मंथन कर रहे हैं. मुख्यमंत्री मोहन यादव के साथ ही पार्टी और केंद्रीय नेतृत्व के सामने इस बार मंत्रियों का चयन और फिर विभागों का बंटवारा बेहद चुनौती भरा काम है. एक-दो दिन में नाम चिह्नित करने की कोशिश है. जिसके बाद ही प्रदेश को नया केबिनेट मिल पाएगा.

सबसे बड़ी चुनौती संगठन के पास केंद्र के नेताओं को लेकर हैं जिन्हें इस चुनाव में मध्य प्रदेश वापस बुलाया गया है. इनको लेकर अभी तक जिम्मेदारी तय नहीं हो पाई है. यही कारण है कि बीजेपी के लिए केबिनेट विस्तार बड़ी चुनौती साबित हो रहा है. बता दें कि इस चुनाव में प्रहलाद पटेल, राकेश सिंह, रीति पाठक, राव उदय प्रताप सिंह जैसे कई बड़े नेता भी विधानसभा के सदस्य बने हैं. अब इन्हें और इनके समर्थक विधायकों को नई जिम्मेदारी देने को लेकर हर स्तर पर माथापच्ची चल रही है.

ADVERTISEMENT

ये भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में फिलहाल बिना कैबिनेट ये 3 लोग ही चलाएंगे सरकार! हैरान कर देगी वजह

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT