दिल्ली में कांग्रेस CEC की बैठक जारी, कुछ ही देर में जारी हो सकते हैं लोकसभा उम्मीदवारों के नाम

एमपी तक

ADVERTISEMENT

दिल्ली में कांग्रेस सीईसी की मीटिंग लगातार जारी
Congress Central Election Committee
social share
google news

Congress Loksabha Candidate: लोकसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो चली हैं. बीजेपी ने मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की 24 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया है,  इसके बाद से ही सबकी नजरें कांग्रेस पार्टी पर टिकी हुई हैं. दिल्ली में कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक लगातार जारी है. बैठक में सोनिया गांधी, मल्लिकार्जुन खरगे, केसी वेणुगोपाल सहित सभी वरिष्ठ नेता मौजूद हैं. न्याय यात्रा पर निकले राहुल गांधी इस वक्त राजस्थान में हैं और वे वर्चुअली इस मीटिंग में जुड़ रहे हैं.

मध्य प्रदेश कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमेटी ने रायशुमारी कर एमपी की लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों के नामों का पैनल बनाकर केंद्रीय चुनाव समिति को सौंप दिया है. दिल्ली में इन उम्मीदवारों के नामों पर मंथन किया जाएगा और फिर प्रत्याशी का नाम फाइनल किया जाएगा.

पार्टी से जुड़े सूत्र बता रहे हैं कि 11 सीटों पर सिंगल नाम हैं और 14 सीटों पर दो-दो नामों का पैनल तैयार किया गया है. तीन सीटें ऐसी हैं जहां पर तीन-तीन नामों का पैनल तैयार किया गया है. इस प्रकार पैनल बनाकर केंद्रीय चुनाव समिति को नाम सौंप दिए गए हैं. बैठक के बाद केंद्रीय चुनाव समिति इन नामों पर फाइनल मोहर लगाएगी.

कांग्रेस पार्टी वरिष्ठ नेताओं को लोकसभा चुनाव का टिकट दे सकती है. चर्चा है कि कमलनाथ, तरुण भनोट, दिग्विजय सिंह, अरुण यादव, अजय सिंह राहुल, सज्जन सिंह वर्मा, कांतिलाल भूरिया और बाला बच्चन जैसे दिग्गजों को मैदान में उतारा जा सकता है. कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने संकेत दिए हैं कि इस बार भी छिंदवाड़ा से नकुलनाथ को ही मैदान में उतारा जा सकता है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

कमलनाथ के गढ़ में बीजेपी की सेंधमारी?

कांग्रेस के तमाम बड़े नेता राहुल गांधी की न्याय यात्रा में बिजी हैं.  इस बीच छिंदवाड़ा में  लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. हाल ही में छिंदवाड़ा के सात पार्षदों ने पाला बदलकर भाजपा जॉइन कर ली है. बीजेपी ने मिशन 29 का लक्ष्य रखा है, यानी कि बीजेपी प्रदेश की 29 सीटों पर जीत हासिल करना चाहती है. बीजेपी ने फिलहाल छिंदवाड़ा से अपने कैंडिडेट का ऐलान नहीं किया है. माना जा रहा है कि पार्टी यहां से किसी दमदार कैंडिडेट को मैदान में उतारेगी, ऐसे में कमलनाथ को अपना गढ़ बचाना मुश्किल हो सकता है. 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT