mptak
Search Icon

जबलपुर में नर्सिंग छात्रों के प्रदर्शन पर पुलिस का कैनन वार, कमलनाथ ने शिवराज को ठहराया ‘अपराधी’

धीरज शाह

ADVERTISEMENT

kamalnath, mp congress, mp congress news, tikamgarh, morena, mp news, kamalnath action, mp news, mp politics, mp election update
kamalnath, mp congress, mp congress news, tikamgarh, morena, mp news, kamalnath action, mp news, mp politics, mp election update
social share
google news

MP News: मध्यप्रदेश के दो लाख से ज्यादा नर्सिंग और पैरामेडिकल कोर्सेज के छात्र पिछले तीन साल से परीक्षा न होने के कारण निराश और परेशान हैं. जबलपुर में बुधवार (20 सितंबर) को नर्सिंग और पैरामेडिकल छात्रों ने प्रदर्शन करते हुए जमकर अपना गुस्सा दिखाया. उन्होंने एक बार फिर चेतावनी दी कि अगर सरकार ने जल्द उनकी परीक्षा नहीं कराई तो वो चुनाव में बीजेपी को वोट नहीं देंगे. इस दौरान पुलिस और छात्र-छात्राओं के बीच झड़प हो गई इसके बाद छात्रों ने अपना प्रदर्शन खत्म किया. अब इस पूरे मामले को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सीएम शिवराज को घेरते हुये कई आरोप लगाए हैं. 

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने X अकांउट पर लिखा ‘शिवराज सरकार के भ्रष्टाचार ने मध्य प्रदेश के नौजवानों का वर्तमान और भविष्य दोनों छीन लिए हैं. पहले तो शिवराज सरकार ने नर्सिंग कॉलेज में मान्यता देने, फैकल्टी की नियुक्ति करने, एडमिशन करने और डिग्री देने में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार किया और अब न्याय की मांग कर रहे छात्रों पर अत्याचार कर रही है’

प्रदेश के अपराधी शिवराज जी आप- कमलनाथ

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आगे लिखा ‘कल जबलपुर में पूरे प्रदेश के नर्सिंग कॉलेजों के छात्रों ने प्रदर्शन किया. अपने अधिकारों के लिए प्रदर्शन कर रहे नर्सिंग छात्रों पर वाटर कैनन का उपयोग कर शिवराज सरकार ने अपना तानाशाही चेहरा उजागर कर दिया है. मैं शिवराज जी से पूछना चाहता हूं, कि सजा फरियादी को मिलनी चाहिए या अपराधी को? असली अपराधी तो आप हैं. आप जिन छात्रों पर वाटर कैनन चला रहे हैं, वह तो पीड़ित हैं. आपने फर्जी कॉलेजों को मान्यता दी और उससे नर्सिंग घोटाला हुआ. 3 साल से परीक्षाएं न होने से छात्र परेशान हो रहे हैं, और अपने भविष्य के लिए संघर्ष कर रहे हैं. मध्य प्रदेश के छात्र आपसे पूछ रहे हैं, कि आपको इस अपराध के लिए क्या दंड दिया जाए? वे जानना चाहते हैं.

छात्रों और पुलिस के बीच झड़प

मध्य प्रदेश में नर्सिंग स्टूडेंट्स की परीक्षाएं न होने से नाराज सैकड़ो छात्रों ने आज जबलपुर में रैली निकाली इस दौरान छात्रों ने सरकार और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की थी. कलेक्ट्रेट का घेराव करने पहुंचे नर्सिंग छात्रों ने घंटाघर चौराहे पर धरना प्रदर्शन किया. प्रदर्शन बढ़ता देख पुलिस ने छात्र-छात्राओं को रोकने के लिए वाटर कैनन चलाई और हल्का बल प्रयोग भी किया. इस दौरान पुलिस और छात्र-छात्राओं के बीच झड़प हो गई. इसके बाद छात्रों ने अपना प्रदर्शन खत्म किया.  

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ये भी पढ़ें:  MP Politics: CM शिवराज को लेकर ये क्या बोल गए पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा? कुंभकरण से कर डाली तुलना

छात्रों को पुलिस पर धमकाने का आरोप

छात्रों का कहना है कि उन्हें पुलिस द्वारा धमका रही है. उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की बात कह रही है. जबकि उनके साथ अन्याय हो रहा है. इधर छात्रों को मनाने के लिए मध्य प्रदेश और विज्ञान विश्वविद्यालय के कुल सचिव भी पहुंचे. जिन्होंने न्यायिक कारणों का हवाला देते हुए छात्रों को समझने की कोशिश की है. इधर पुलिस का कहना है कि छात्रों के उग्र प्रदर्शन को देखते हुए हल्का बल प्रयोग किया गया है. उनकी मांगों को प्रशासन तक पहुंचा दिया गया है. 

ADVERTISEMENT

जल्द परीक्षाएं कराने की मांग

छात्रों की मांग है की मध्य प्रदेश में नर्सिंग कॉलेज की परीक्षाएं जल्द से जल्द कराई जाए. प्रशासन और सरकार की लापरवाही के चलते सैकड़ो कॉलेज को बंद कर दिया गया है. हजारों नर्सिंग छात्र-छात्राओं का भविष्य खतरे में पड़ गया है. पिछले 3 सालों से मध्य प्रदेश में नर्सिंग की परीक्षाएं नहीं हुई है. जिसकी वजह से नर्सिंग छात्राओं के सामने अब आर्थिक संकट भी खड़ा हो गया है. छात्रों ने मांग की है कि मध्य प्रदेश में जल्द से जल्द नर्सिंग कॉलेज की परीक्षाएं कराई जाए तमाम नर्सिंग स्टूडेंट्स चुनाव का बहिष्कार कर देंगे.  

ADVERTISEMENT

ये भी पढ़ें: MP News: गुटबाजी का फिर शिकार बनी कांग्रेस, जन आक्रोश यात्रा में ही मंच पर भिड़ पड़े नेता

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT