mptak
Search Icon

कमलनाथ ने कहा- सर से पांव तक घोटालों में घिरी शिवराज सरकार, जीतू, अरुण यादव ने गिनाए घोटाले

अमन तिवारी

ADVERTISEMENT

A tweet created a ruckus in Madhya Pradesh, FIR on Priyanka Gandhi in 3 cities, know everything related to this controversy Acharya Pramod CONGRESS Arun yadav jitu patwari sovha ojha Priyanka Gandhi Kamal Nath MP News Priyanka Gandhi Kamal Nath Acharya
A tweet created a ruckus in Madhya Pradesh, FIR on Priyanka Gandhi in 3 cities, know everything related to this controversy Acharya Pramod CONGRESS Arun yadav jitu patwari sovha ojha Priyanka Gandhi Kamal Nath MP News Priyanka Gandhi Kamal Nath Acharya
social share
google news

FIR Against Priyanka Gandhi:  मध्यप्रदेश में इन दिनों कांग्रेस और बीजेपी की जुबानी जंग जारी है. एक तरफ जहां कांग्रेस बीजेपी (bjp) सरकार को कमीसन वाली सरकार बता रही है, तो वहीं बीजेपी कांग्रेस पर झूठा प्रोपेगेंडा चलाने का का आरोपी लगा रही है. इस पूरे विवाद में पूरी कांग्रेस (congress) और बीजेपी एकजुट होकर हमला कर रही है. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ(Kamalnath), पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव (Arun Yadav) और पूर्व मंत्री जीतू पटवारी (jitu patwari) ने बीजेपी को घोटालों की सरकार बताया है.

कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा कि “सर से पांव तक घोटालों से घिरी शिवराज सिंह चौहान (cm shivraj) सरकार के इशारे पर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी (priyanka Gandhi), जयराम रमेश (jairam ramesh) और मुझ सहित कई नेताओं पर प्रदेश के विभिन्न जिलों में भाजपा नेताओं ने एफआईआर दर्ज कराई गई. जिस सरकार को मध्यप्रदेश का बच्चा-बच्चा कमीशन राज सरकार कहता है, वह सरकार भ्रष्टाचार की जांच नहीं करा सकती”  

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

सिर्फ भ्रष्टाचार के मुद्दे उठाने वाले पर अत्याचार कर सकती है शिवराज सरकार

कमलनाथ (kamalnath) ने आगे लिखा कि ये सरकार भ्रष्टाचार की जांच नहीं बल्कि भ्रष्टाचार के मुद्दे को उठाने वालों पर अत्याचार कर सकती है. मैं कांग्रेस के एक-एक कार्यकर्ता का आव्हान करता हूं कि वह भ्रष्टाचार के खिलाफ तन कर खड़ा हो जाए और इस 50% कमीशन के राज को उखाड़ फेंके. सत्यमेव जयते.

MP में कमीशनखोरी की सरकार- अरुण यादव

ट्वीट मामले की शुरूआत करने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव (Arun Yadav) ने FIR दर्ज होने के बाद शिवराज सरकार पर करारा हमला बोला है. उन्होंने कहा ” मध्यप्रदेश भ्रष्टाचार का गड़ बन चुका है. ये कोई सामान्य सरकार नहीं है ये 50 प्रतिशत कमीशन खाेरों की सरकार है. हम पहले भी इन भ्रष्ट लोगों से लड़े हैं आगे भी लड़ते रहेगें. राहुल गांधी जी ने कहा था कि भ्रष्ट एवं बेईमान लोगों से डरने की ज़रूरत नहीं है.पहले हम गोरों से लड़े थे, अब मप्र कि भ्रष्ट और कमीशनखोर लोगों से लड़ने वाले है.

ADVERTISEMENT

mp सरकार ने 220 महीने में 225 घोटाले किए- जीतू पटवारी

कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री जीतू पटवारी (jitu Patwari)  ने बयान देते हुए कहा कि, मैं डंके की चोट पर बात कर रहा हूं!. मध्यप्रदेश में 50% कमीशन की सरकार (mp goverment) है. सीएम, क्या स्टेट बॉर्डर पर बगैर लेनदेन के आवाजाही संभव है? क्या गांव-कस्बे से लेकर शहरों का प्रशासन बगैर लेनदेन के काम कर रहा है? क्या भर्ती परीक्षाओं में चयन बगैर लेनदेन के संभव है? क्या आम नागरिक बगैर लेनदेन के अपना काम करवा सकता है? ऐसे सैकड़ों/हजारों सवाल हैं, जो BJP को बेनकाब कर रहे हैं. जनता विधानसभा चुनाव की प्रतीक्षा कर रही है.  BJP को इस बार फिर मात दी जाएगी.  पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा- मध्यप्रदेश में BJP सरकार ने 220 महीने में 225 घोटाले किएम हालात अभी भी यह हैं, कि तकरीबन हर महीने एक नया घोटाला कर रहे हैं. इस सरकार के कई घोटाले हैं इसीलिए कहा जा रहा है कि आपके घोटालों की लिस्ट इतनी लंबी है कि पीएम की गालियां वाली लिस्ट छोटी पड़ जाए.

ADVERTISEMENT

मध्यप्रदेश में 80% तक का भ्रष्टाचार- शोभा ओझा

कांग्रेस नेत्री शोभा ओझा ने कहा  “आज कौन नहीं जानता कि मध्य प्रदेश में किस तरह का भ्रष्टाचार हो रहा है, 50% भ्रष्टाचार इंसानों के साथ हो रहा है, और 80% भ्रष्टाचार भगवान के साथ हो रहा है.  हमने महाकाल लोक में 80% भ्रष्टाचार देखा, कैसे मूर्तियों को हवा में उड़ा दिया गया, कारम बांध में भ्रष्टाचार हुआ जहां 18 गांव बर्बाद हो गए. कोई भी ठेकेदार वहां काम करने के लिए तैयार नहीं है, क्योंकि उसे 50% उनके (भाजपा) नेताओं से मिला है. इन लोगों ने खा लिया बच्चों और गर्भवती महिलाओं का पोषण आहार तक में घोटाला कर दिया है. हम जनता की आवाज उठाते रहेंगे और मध्य प्रदेश की जनता इन भ्रष्टाचारियों को मध्य प्रदेश से उखाड़ फेंकेगी”.

ये भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में एक ट्वीट से मचा घमासान, प्रियंका गांधी पर 3 शहरों में FIR, जानें इस विवाद से जुड़ा सब कुछ

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT