महाशिवरात्रि से ठीक पहले शिवलिंग हटाने से नाराज ये BJP विधायक बैठे धरने पर, पुलिस पर गंभीर आरोप

उमेश रेवलिया

ADVERTISEMENT

घटना स्थल पर मौजूद पुलिस
khargone_news
social share
google news

MP News: देश भर में कल यानि कि 8 मार्च को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाएगा. इसके पहले कई जगह बड़े-बड़े आयेाजन की तैयारियां की जा रही हैं. इसी बीच में पुलिस को एक शिवलिंग हटाना भारी पड़ गया. शिवलिंग के हटते ही बीजेपी विधायक राजकुमार मेव धरने पर बैठ गए. विधायक की माने तो शिवलिंग करीब 50 वर्ष पुराना है जिसे पुलिस वालों ने जूते पहनकर गाड़ी में रखा और भाग गए. ये  कृत्य हिन्दू समाज को अच्छा नहीं लगा. ये उन्हें महंगा पड़ेगा. इसके साथ ही कई हिंदू संगठन पुलिस के रवैये का विरोध करते नजर आए. 

दरअसल खरगोन जिला मुख्यालय से करीब 60 किलोमीटर दूर मंडलेश्वर थाना क्षेत्र में पीपल के पेड़ के नीचे रख शिवलिंग को उठाकर ले जाना पुलिस को भारी पड़ गया है. महाशिवरात्रि के एक दिन पहले पीपल के पेड़ के नीचे स्थित शिवलिंग को उठाकर ले जाने की सूचना मिलने पर भाजपा विधायक राजकुमार में और हिंदू संगठन के लोग उक्त स्थान पर पहुंच गए.

पुलिस के रवैये पर बीजेपी विधायक का विरोध 

विधायक के पहुंचने पर हिंदू संगठनों द्वारा विधायक को बताया गया कि पुलिस जवान जूते पहनकर शिवलिंग उठाकर गाड़ी में रखकर गाड़ी भगाकर ले गए. सूचना मिली तो विधायक भड़क गए और शिवलिंग उसी स्थान पर फिर से स्थापित करने के लिए धरने पर बैठ गए. मामला गर्माने पर एसडीओपी मनोहर सिंह गवली, मंडलेश्वर थाना इंचार्ज सहित भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा. काफी देर तक विधायक को समझाने का प्रयास किया जाता रहा. शिविलिंग की दोबारा स्थापना के बाद ही मामला शांत हुआ. 

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पूरे मामले पर क्या है पुलिस का कहना?

SDOP मनोहर सिंह गवली का कहना है कस्बे में त्रिवेणी वट वृक्ष है, जो स्कूल के पास है. पेड़ के चबूतरे पर अज्ञात व्यक्तियों द्वारा शिवलिंग रखा गया था. प्रशासन को सूचना मिलने पर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के नेतृत्व में सीएमओ और उनकी टीम के द्वारा शिवलिंग को हटाया गया. विधायक के आरोप के मामले में एसडीपी का कहना है पुलिस कानून व्यवस्था के लिए मौजूद थी. राजस्व विभाग और नगर परिषद के द्वारा कार्रवाई की गई है. उनके द्वारा बगैर अनुमति के रखा गया शिवलिंग हटाया गया है. पूर्व में वहां पर कोई शिवलिंग नहीं था, रात में रखा गया है. 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT