mptak
Search Icon

Modi Cabinet 3.0: दिल्ली में कैबिनेट में मंत्री बनते ही भावुक हुए शिवराज सिंह चौहान, जानें क्या कहा?

एमपी तक

ADVERTISEMENT

mptak
social share
google news

Shivraj Singh Chauhan: पीएम नरेंद्र मोदी ने 9 जून को तीसरी बार देश के प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली. इसके साथ ही कैबिनेट मंत्रियों का भी शपथ ग्रहण समारोह हुआ. सबकी निगाहें मध्य प्रदेश पर विशेष रूप से टिकी हुईं थीं. मध्य प्रदेश से 5 सांसदों को मोदी मंत्रिमंडल में जगह दी गई है. पूर्व सीएम और विदिशा सांसद शिवराज सिंह चौहान ने पहली बार केंद्रीय मंत्री के रूप में शपथ ली है. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने शिवराज सिंह चौहान को मोदी कैबिनेट मंत्री की शपथ दिलाई. 

शपथ ग्रहण के बाद शिवराज सिंह चौहान भावुक नजर आए. मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा, "अपने जीवन का दिन महत्वपूर्ण नहीं है महत्वपूर्ण यह है कि हम अपने देश के लिए कितना जीते हैं और क्या कर पाते हैं." 

मैं भाव-विभोर हूं...-शिवराज

कैबिनेट मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, "मैं भाव विभोर हूं, अपने महान राष्ट्र की सेवा करने का अवसर मुझे प्रधानमंत्री जी ने दिया है. उनके नेतृत्व में भारत नई ऊंचाइयां छूएगा और मेरा अपना विश्वास है, भौतिकता की अग्नि में दग्ध विश्व मानवता को शाश्वत और शांति के पद का दिग्दर्शन कराएगा."

ये भी पढ़ें: Modi 3.0 Cabinet: शिवराज-सिंधिया समेत MP के 5 सांसद बनेंगे मंत्री! लिस्ट में बैतूल सांसद का भी नाम, कौन हैं दुर्गादास उईके?

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि "जनता की सेवा मेरे लिए सदैव भगवान की पूजा रही है, तो अपनी जनता की सेवा और देश के विकास का जो अवसर मिला है, मन में है कि दिन और रात अपनी संपूर्ण क्षमता के साथ परिश्रम करके अपने देश और अपनी जनता के लिए प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन और नेतृत्व में बेहतर से बेहतर करने का प्रयास करूं."

RSS कार्यकर्ता से कैबिनेट मंत्री तक का सफर

आपको बता दें शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश के 4 बार के मुख्यमंत्री हैं. इसके साथ ही वे छठवीं बार सांसद चुने गए हैं. इस चुनाव में शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस प्रत्याशी को करीब 8 लाख से भी अधिक वोटों से चुनाव हराया है. राजनीति में कदम रखने से पहले उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) में कार्यकर्ता के रूप में कार्य किया था. प्रदेश में मुख्यमंत्री पद का दायित्व संभालने से पहले शिवराज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रह चुके हैं.

ये भी पढ़ें: Jyotiraditya Scindia : मोदी 3.0 में ज्योतिरादित्य सिंधिया का करिश्मा, इस मामले में पिता माधवराव से आगे निकले

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT