महाराष्ट्र में MP के विधायक को टोल नाके पर रोका, तो बोले,’पहचानता नहीं, मैं MLA हूं’

पवन शर्मा

ADVERTISEMENT

mptak
social share
google news

MP POLITICAL NEWS: छिंदवाडा जिले के सौसर विधायक विजय चोरे का टोल नाका में दबंगई करते हुए एक वीडियाे सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. वीडियो में सामने आया कि विधायक और कर्मचारी के बीच तीखी बहस हो रही है. कर्मचारी ने जब विधायक विजय चोरे की गाड़ी को टोल पर रोक दिया तो हैकड़ी दिखाते हुए विधायक कर्मचारी से बोले’ पहचानता नहीं है क्या, मैं MLA हूं.’  इसके बाद विधायक विजय चोरे कर्मचारी को गरियाते हुए और अभद्रता करते हुए भी दिखाई दे रहे हैं. आपको बता दें कि विजय चोरे कांग्रेस पार्टी के विधायक हैं.

दरअसल सौसर विधायक विजय चोरे अपने कार्यकर्ता की शादी समारोह में शामिल होने नागपुर गए थे. वापस लौटते समय महाराष्ट्र के किल्लोद टोल प्लाजा पर टोल स्टाफ ने  विधायक की गाड़ी रुकवाई और उनसे कार्ड दिखाने को बोला. इस पर विधायक विजय चोरे भड़क गए. इसके बाद उन्होंने टोल कर्मचारियों को जमकर खरी खोटी सुनाई. विधायक ने कर्मचारियों से कहा कि ‘तुम लोगों को शर्म नहीं आती कि एक विधायक को इस तरह से रोक रहे हो. मैं तुमको थाने में बंद करा दूंगा’. 

विधायक बोले, ‘कर्मचारी मेरे प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे थे’
सोशल मीडिया पर मामला वायरल होने के बाद मीडिया ने जब विधायक विजय चोरे से इस विवाद को लेकर बात की तो उन्होंने कहा कि ‘टोल नाके के कर्मचारी मुझसे अभद्रता कर रहे थे. मेरी गाड़ी के सामने साफ “विधायक” लिखा हुआ था लेकिन इसके बाद भी वे मुझसे कार्ड मांग रहे थे. कर्मचारियों को पता होना चाहिए कि विधायक का प्रोटोकॉल क्या होता है. वे मेरे प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे थे’.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

अब विधायक ने लगा दिए आरोप 
मामले में सोशल मीडिया पर छीछालेदार होते देख अब सौसर विधायक रमेश चोरे ने टोल स्टाफ पर आरोप लगा दिए कि टोल स्टाफ लोगों को परेशान करता है. वे लोग एम्बुलेंस को भी रोकते हैं. आम लोगों से बदतमीजी करते हैं. लोगो की गाडियो में फास्ट टैग लगा होने के वाबजूद भी 10- 10 मिनट तक गाड़िया खड़ी करते है. विधायक मीडिया को बताते हैं कि ‘मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा से लेकर महाराष्ट्र के नागपुर में बने किल्लौद टोल प्लाजा के 70 किमी के दायरे में दो टोल नाका है, ये कहां का न्याय है. सौसर विधानसभा के लोगो को किल्लोद मे टोल देना होता है और एक महाराष्ट्र की सीमा पर पाटन सावंगा में टोल देना होता. जबकि केंद्र सरकार कहती है कि 70 किमी के अंदर एक टोल रहेगा. यहां पर  70 किमी में 2 टोल हैं. ये भी तो गलत बात है ना’.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT