mptak
Search Icon

MP Politics: गोपाल भार्गव को मंत्री न बनाए जाने से क्यों दुखी हैं जीतू पटवारी? कब पलटवार करेंगे भार्गव

एमपी तक

ADVERTISEMENT

गोपाल भार्गव को मंत्री नहीं बनाए जाने पर जीतू का तंज
social share
google news

न्यूज़ हाइलाइट्स

point

रामनिवास रावत को मंत्री बनाए जाने के बाद जीतू पटवारी का बीजेपी पर तंज

point

बीजेपी के सीनियर नेताओं के प्रति दिखाई सहानुभूति

MP Politics: मध्य प्रदेश में मोहन सरकार मंत्रिमंडल का विस्तार हो गया है. विस्तार से पहले कई नामों की चर्चा हुई. उनमें कांग्रेस से बीजेपी में आने वाले विधायकों का नाम था और चर्चा यह भी थी. कि, मध्य प्रदेश के बीजेपी के सीनियर विधायक में से किसी एक को मंत्री बनाया जा सकता है. लेकिन, मंत्री केवल रामनिवास रावत को ही बनाया गया. मंत्री पद से बीजेपी के दिग्गज पीछे रह गए. जिसके बाद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी की प्रतिक्रिया सामने आई है. जिसमें उन्होंने बीजेपी के वरिष्ट नेताओं के प्रति सहानुभूति जताई है. 

दरअसल मंत्री मंडल विस्तार से पहले ऐसा माना जा रहा था कि इस विस्तार में बीजेपी के सीनियर नेताओं को मौका मिल सकता है. जिनमें पूर्व मंत्री गोपाल भार्गव और भूपेंद्र सिंह का नाम आगे माना जा रहा था. लेकिन, इन लोगों को जगह नहीं दी गई. बल्कि कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए रामनिवास रावत को कैबिनेट मंत्री बनाया गया. 

BJP के सीनिसर नेताओं पर पटवारी का तंज?

दरअसल अमरवाड़ा में प्रचार करने के लिए पहुंचे थे. जीतू पटवारी से सवाल किया गया था.  जीतू पटवारी ने सीनियर नेताओं को मंत्री न बनाए जाने को लेकर कहा "मेरी सिंपैथी है बीजेपी के उन नेताओं के साथ वो चाहे गोपाल भार्गव जी हो चाहे हमारे सागर के पूर्व गृहमंत्री जी हो. चाहे जो पांच-पांच छछ बार से विधायक है. कि आप घर में बैठ के देखो बीजेपी कांग्रेस के लोगों को मंत्री बनाएगी. गोपाल भार्गव को मंत्री ना बनाए जाने से जीतू पटवारी दुखी हैं. अब यह दुख है. तंज है या व्यंग है. वो जीतू पटवारी जानते हैं.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पटवारी ने गोपाल भार्गव का नाम लेकर बीजेपी पर ही निशाना साथ दिया और इतना तक कहा कि बताइए कांग्रेस से जो आ रहे हैं. वह मंत्री बन रहे हैं गोपाल भार्गव मंत्री नहीं बन रहे कई सीनियर एमएलए हैं. उनको मंत्री नहीं बनाया जा रहा है.

बीजेपी के दिग्गज नेताओं के भविष्य पर उठ रहे सवाल

जीतू पटवारी ने कहीं ना कहीं बीजेपी पर यह सवाल जरूर उठा दिया कि कांग्रेस से आने वाले नेताओं को भारतीय जनता पार्टी में न सिर्फ सम्मान मिल रहा बल्कि सम्मान जनक पद भी दिए जा रहे हैं. यही कारण है कि अब बीजेपी के पुराने नेताओं का क्या हो रहा है इसको लेकर सब सवाल उठा रहे हैं. दरअसल बीजेपी के कई पुराने दिग्गज नेताओं को इस बार मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है. जबकि नए चेहरों को मौका दिया गया है. माना ऐसा भी जा रहा है कि बीजेपी ये अपनी रणनीति के तहत कर रही है. फिलहाल इस मामले न तो गोपाल भार्गव की कोई प्रतिक्रिया सामने आई है और न ही भूपेंद्र सिंह ने इस मामले को लेकर कुछ कहा है.

ADVERTISEMENT

ये भी पढ़ें:क्या MP में कांग्रेस को शिवराज की 'लाड़ली बहना योजना' की वजह से मिली करारी हार? हो गया बड़ा खुलासा

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT