उमरिया: मंत्री के सामने ही सामूहिक विवाह सम्मेलन में अधिकारियों ने वर-वधू को दिए नकली आभूषण! हुआ हंगामा

रावेंद्र शुक्ला

ADVERTISEMENT

Umaria News Chief Minister Kanyadan Yojana mp news Tribal Affairs Minister of MP Meena Singh
Umaria News Chief Minister Kanyadan Yojana mp news Tribal Affairs Minister of MP Meena Singh
social share
google news

Umaria News: मध्यप्रदेश के उमरिया में प्रशासन द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह सम्मेलन में तब हंगामे की स्थिति निर्मित हो गई, जब वर-वधू को दिए जाने वाले आभूषण नकली होना पाए गए. पूरा कार्यक्रम सरकारी था और मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत 86 जोड़ों के सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित कराया जा रहा था. हैरान करने वाली बात यह है कि पूरा घटनाक्रम मध्यप्रदेश की जनजातीय कार्य मंत्री मीना सिंह के सामने हुआ. जैसे ही वर-वधू को नकली आभूषण दिए जाने का मामला मंत्री मीना सिंह को पता चला तो वे अधिकारियों पर जमकर बिफर पड़ी और आभूषण की कीमत के बराबर नगद राशि वर-वधू को देने के निर्देश मंत्री द्वारा दिए गए.

उमरिया जिले के नगर पंचायत मानपुर में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में बड़ी गड़बड़ी सामने आई. नियमानुसार वर-वधू को 12950 रुपए मूल्य के आभूषण प्रदान किये जाने थे. आयोजको ने जब सोने चांदी के आभूषण वर-वधू को प्रदान किए तो पता चला कि अधिकांश जेवर नकली हैं.

जिसके बाद आयोजन में मौजूद जनजातीय कार्य मंत्री मीना सिंह ने कड़ी आपत्ति दर्ज कराई और जिम्मेदार अधिकारियों को फटकार लगाते हुए वर-वधू के जोड़े को 12950 रुपए नगद प्रदान करने के निर्देश दिए. बता दें मानपुर में मुख्यमंत्री कन्या दान योजना के तहत 86 जोड़ों का विवाह संपन्न कराया गया है जिसमे जिले के प्रशासनिक अफसरों,जनप्रतिनिधियों सहित जनजातीय कार्य मंत्री ने हिस्सा लिया.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ग्वालियर चंबल में कांग्रेस को बड़ा झटका, पूर्व विधायक बलवीर दंडोतिया ने थामा बसपा का ‘हाथ’

मंत्री के सामने नकली आभूषण कैसे वितरित हो गए?
पूरे मामले के सामने आने के बाद अब जनजातीय कार्य मंत्री मीना सिंह जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई की बात कर रही हैं. लेकिन हैरानी की बात यह है कि प्रशासनिक अधिकारियों ने इतनी बड़ी गड़बड़ी करने की प्लानिंग कर ली और मंत्री को खबर तक नहीं लगी. वर-वधू को जब आभूषण दिए गए, तब उनकी तरफ से ही आपत्ति आई कि आभूषण नकली है. इसके बाद तो पंडाल में मौजूद प्रत्येक वर-वधू और उनके साथ आए परिजनों ने इसे लेकर हंगामा कर दिया और मंत्री के सामने उनका अपमान किए जाने के आरोप लगाए. जनजातीय कार्य मंत्री ने जैसे-तैसे मामले को संभाला और आयोजन के लिए जिम्मेदार अधिकारियों को लोगों के सामने ही फटकारना शुरू कर दिया. मंत्री ने कहा कि आभूषण की कीमत की राशि तत्काल नगदी दीजिए. तब जाकर मामला शांत हुआ.

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT