mptak
Search Icon

रामनिवास रावत के मंत्री बनने पर क्या बोले जीतू पटवारी? तन्खा ने कह दी संविधान के सम्मान की बात? जानें

एमपी तक

ADVERTISEMENT

विवेक तन्खा और जीतू पटवारी ने रामनिवास रावत को लेकर कही ये बात
social share
google news

MP News: मध्य प्रदेश की मोहन सरकार का दूसरा मंत्रिमंडल विस्तार आज सुबह किया गया. जिसमें कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए रामनिवास रावत ने कैबिनेट मंत्री की शपथ ली. इसके बाद से ही कांग्रेस लगातार बीजेपी पर हमलावार है. कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने आरोप लगाया है कि लोकतंत्र की परंपराओं की अनदेखी करते हुए कांग्रेस विधायक को बीजेपी सरकार में मंत्री बना दिया गया. कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष जीतू पटवारी ने रामनिवास रावत के अब भी कांग्रेस विधायक होने का दावा किया है. 

जीतू पटवारी ने रावत को बताया कांग्रेसी

जीतू पटवारी ने 'X' पर लिखा, ''यह स्थापित परंपरा है कि सरकार और विपक्ष अलग होते हैं, लेकिन लोकतंत्र की हत्या व कुर्सी की सौदेबाज़ी के लिए कुख्यात बीजेपी ने कांग्रेस विधायक को ही मंत्री पद की शपथ दिला दी! यह लोकतंत्र और संविधान का प्रमाणिक अपमान है. जबकि, कांग्रेस विधायक रामनिवास रावत की विधानसभा सदस्यता समाप्त करने के लिए भी विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष पर्याप्त आधार एवं प्रमाणिकता के साथ प्रतिवेदन दिया था. दुर्भाग्य से उन्होंने भी कर्तव्य-पालन नहीं किया. 

महामहिम राज्यपाल को भी संविधान-लोकतंत्र की परंपराओं का पालन करना था. क्योंकि, वे दल नहीं, संविधान के आदेश पालन के लिए नियुक्त किए गए हैं. लेकिन, संविधान के शीर्ष पद से भी असहमति दर्ज नहीं की गई. मैं मध्यप्रदेश की जनता को फिर बताना चाहता हूं कि यह कर्ज, क्राईम, करप्शन की सरकार है. यह बार-बार खरीद-फरोख्त और दलबदल की राजनीति का अपराध कर रही है.'' 

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

बता दें कि मध्य प्रदेश में सोमवार सुबह मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया. राज्यपाल मंगूभाई पटेल ने राजभवन में एक संक्षिप्त समारोह में मुख्यमंत्री मोहन की मौजूदगी में रामनिवास रावत को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. 

विवेक तन्खा ने कही ये बात

राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने लिखा "राम निवास जी मैं आपका आदर करता हूं. किस पार्टी के सदस्य रहना चाहते है. यह आपका निजी डिसिशन है. उचित होता कि आप कांग्रेस से निर्वाचित विधायक पद से पहले स्थीफ़ा देते और फिर मंत्री बनते. रावत जी आप वरिष्ठ विधायक हैं. राजनीतिक शुचिता और संविधान के १० वे शेड्यूल का सम्मान करे "

ADVERTISEMENT

आपको बता दें कि दलबदल के बाद भी अभी तक रामनिवास रावत ने विधायक पद से इस्तीफा नहीं दिया है. जब आज मंत्री पद की शपथ लेने के बाद रामनिवास रावत से MPTAK ने इस्तीफे को लेकर बातचीत की तो उन्होंने कहा कि समय आने पर वह इस्तीफा भी दे देंगे. 

ADVERTISEMENT

ये भी पढ़ें: MP News: MP कांग्रेस में होगी बड़ी सर्जरी! लोकसभा चुनाव की करारी हार के बाद भंवर जितेंद्र सिंह ने दिए संकेत

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT