mptak
Search Icon

जबलपुर में 10 स्कूलों को लौटानी होगी बढ़ाई फीस के 69 करोड़, लौटाएंगे कैसे कलेक्टर ने बनाया ये फॉर्मूला?

धीरज शाह

ADVERTISEMENT

जबलपुर कलेक्टर ने स्कूलों पर बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है.
jabalpur_news
social share
google news

Jabalpur School News: जबलपुर जिला कलेक्टर ने शहर के 10 निजी स्कूलों को बढ़ाई गई फीस के 69 करोड़ रुपए पेरेंट्स को लौटाने के आदेश जारी कर दिए हैं. इसके लिए कलेक्टर दीपक सक्सेना ने एक फॉर्मूला तैयार करवाया है. फीस लौटाने के लिए स्कूलों को एक महीने की समय सीमा दी गई है. 

कलेक्टर के फार्मूला के मुताबिक, अगर किसी स्कूल ने नर्सरी क्लास की सालभर की फीस 40000 रुपये चार्ज की है. प्रशासन ने स्ट्रक्चर में फीस घटाकर 31000 रुपये/साल कर दी है. इसका मतलब साफ है कि स्कूल अब अभिभावकों को प्रति छात्र 9000 रुपये लौटाने होंगे. ये फॉर्मूला हर क्लास के लिए लागू किया गया है. 

जिला शिक्षा अधिकारी घनश्याम सोनी ने कहा- "स्कूलों ने फीस अपने हिसाब से बढ़ा ली. नियम यह कहता है कि 10 फीसदी से ज्यादा फीस बढ़ा रहे हैं तो इसके पहले उन्हें जिला शिक्षा समिति से परमीशन लेनी होगी. अगर 10 फीसदी से कम करते हैं, तब भी जिला शिक्षा समिति को सूचना देनी होगी. साथ ही एजुकेशन पोर्टल पर जानकारी अपलोड करना होगी."

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

स्कूल प्रबंधन के पास अपील करने का मौका

जिला प्रशासन ने स्कूल प्रबंधन को भी मौका दिया है कि वे जिला शिक्षा समिति के आदेश पर राज्य शिक्षा समिति के पास जाकर अपील कर सकते हैं. इसके लिए उन्हें 15 दिन का समय दिया गया है.  बता दें कि प्रशासन ने यह एक्शन अभी सिर्फ फीस बढ़ाने पर है, यूनिफॉर्म, कोर्स में बढ़ोतरी की जांच भी चल रही है. अगर वहां भी गड़बड़ी मिलती है तो स्कूलों को इसका बढ़ा हुआ पैसा भी पेरेंट्स को लौटाना पड़ सकता है.

ये भी पढ़ें: Jabalpur News: जबलपुर कलेक्टर के बेटे का अचानक हुआ निधन! मौत की खबर से मचा हड़कंप

ADVERTISEMENT

जबलपुर में बड़ी कार्रवाई, अब तक 21 गिरफ्तारियां

शहर के 11 निजी स्कूलों के खिलाफ प्रशासन, शिक्षा विभाग और पुलिस की टीम लगातार 1 महीने से जांच कर रही है. फीस बढ़ाने पर एक स्कूल की जांच अभी जारी है. बाकी की रिपोर्ट सामने आ गई है. एक महीने पहले कार्रवाई की शुरुआत में ही प्रशासन ने 11 स्कूलों के 51 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी. इनमें स्कूलों के चेयरमैन, प्राचार्य, सीईओ, मैनेजर, सदस्य, एडवाइजर समेत 21 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं. 30 आरोपी फरार हैं.

ADVERTISEMENT

कलेक्टर बोले- बढ़ाई फीस पर बाकी स्कूल खुद फैसला करें 

कलेक्टर दीपक सक्सेना का कहना है कि बाकी के स्कूलों को भी हमने मौका दिया है कि वो खुद बढ़ाई गई फीस पर निर्णय लें. जांच टीम ने मंगलवार को रिपोर्ट पेश कर दी है. बता दें कि जिला प्रशासन की कार्रवाई के बाद सेंट अलाइसियस स्कूल पोलिपाथर, क्राइस्ट चर्च बॉयज सीनियर सेकेंडरी स्कूल, क्राइस्ट चर्च कोएड स्कूल सालीवाडा, सेंट अलाइसियस सीनियर सेकेंडरी स्कूल सदर की 2018 से 2024-25 सेशन तक की बढ़ाई गई फीस को रद्द कर नई फीस लिस्ट जारी कर दी है.

ये भी पढ़ें: Jabalpur में निजी स्कूलों ने फीस के नाम पर 81 करोड़ रुपये एक्स्ट्रा वसूले, इस बड़े खुलासे से हड़कंप

इन 11 स्कूलों के खिलाफ हुआ एक्शन

  1. क्राइस्ट चर्च स्कूल कोएड सालीवाडा
  2. स्टेमफील्ड इंटरनेशनल स्कूल विजयनगर
  3. क्राइस्ट चर्च फॉर बॉयज एंड गर्ल्स
  4. श्री चैतन्य टेक्नो स्कूल धनवंतरी नगर
  5. सेंट अलाइसियस स्कूल पोलीपाथर
  6. ज्ञानगंगा ऑर्किड इंटरनेशनल स्कूल
  7. सेंट अलाइसियस सीनियर सेकेंडरी स्कूल सदर
  8. लिटिल वर्ल्ड स्कूल
  9. क्राइस्ट चर्च फॉर बॉयज सीनियर सेकेंडरी स्कूल सिविल लाइंस
  10. सेंट अलाइसियस रिमझा
  11. क्राइस्ट चर्च जबलपुर डाइसिसशन स्कूल

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT