mptak
Search Icon

फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनाने वालों का भंडाफोड़, छापेमार कार्रवाई में 2 आरोपी गिरफ्तार

चंद्रभान सिंह भदौरिया

ADVERTISEMENT

Fake birth certificate makers busted, 2 accused arrested in raids
Fake birth certificate makers busted, 2 accused arrested in raids
social share
google news

Jhabua News: मध्यप्रदेश में सरकार की लाडली बहना बनने के लिए 30 अप्रैल की तारीख अंतिम है. अब तक 1 करोड़ से अधिक आवेदन आने का दावा सरकार कर चुकी है. लेकिन झाबुआ पुलिस ने एक ऐसे गैंग को पकड़ा है जो फर्जी जन्म प्रमाण पत्र महज 500 रूपये लेकर बना रहा था. और इसे बनाने के लिए सरकारी वेबसाइट के जैसी ही नकली वेबसाइट का इस्तेमाल किया जा रहा था. पुलिस ने छापेमार कार्रवाई के दौरान युवकों के पास से बड़ी संख्या में नकली जन्म प्रमाण-पत्र जब्त किए गए हैं. पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर उन्हें पुलिस रिमांड पर लिया है. इन पर आईपीसी की 420 एवं 468 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

जानकारी के मुताबिक सरकार एक तरफ लाड़ली बहना योजना के माध्यम से महिलाओं के लिए योजना चला रही है. वहीं सरकार की इस लाभकारी योजना को कुछ लोग पलीता लगाने में लगे हुए हैं. पुलिस ने छापेमार कार्रवाई युवकों के पास से कुल 21 प्रमाण पत्र आज छापेमारी के दौरान बरामद किये है. पुलिस का कहना है कि इन प्रमाण पत्रों का इस्तेमाल किसी भी मामले में किया जा सकता है लेकिन फिलहाल लाडली बहना योजना में इसका इस्तेमाल किये जाने की बात सामने आई है

शिकायत के बाद दो दुकानों पर छापेमार कार्रवाई
पुलिस ने बताया कि कुछ दिनों से झाबुआ मे इस प्रकार की शिकायत मिल रही थी कि कुछ लोग नकली जन्म प्रमाण पत्र बना रहे है और इस बात की जांच कराई गई तो दीपक सोलंकी जिसकी गुजरात टेलर के नाम से राजवाड़ा मे दुकान है और रिंकू राठौड़ जिसकी कनक श्री के नाम से कालोनी मे दुकान है. इन लोगो द्वारा नाम और माता पिता की जानकारी प्राप्त करके और नकली जन्म प्रमाण पत्र बना रहे थे जो की एक प्रकार से फर्जी प्रमाण पत्र बना रहे थे और उनको पांच सौ रु मे बेंच रहे थे. यह शिकायत सही पाए जाने पर इन दोनों के खिलाफ आपराधिक मामला पंजीबद्ध किया जाकर कार्रवाई की गई है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

कोई शिकायत कर्ता सामने तो नहीं आया ही लेकिन इस प्रकार से हम लोगो को जानकारी मिली थी की इस प्रकार से लोग नकली प्रमाण पत्र बना रहे हैं. जिससे कई मामलो मे इसका दुरूपयोग होने की सम्भावना है, हां कुछ हद तक यह की इसी सम्बन्ध मे बताया था की इसका दुरूपयोग हो आ रहा है अभी हमने जांच सही पाए जाने पर अपराध पंजीबद्ध किया है. आगे जांच में कुछ और जानकारी निकलकर सामने आ सकती है.

ये भी पढ़ें; पिता की दर्दनाक कहानी: बेटी के इलाज में सब बिक गया, खून बेचकर आटा खरीदा फिर जिंदगी से यूं हारा

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT