…तो क्या बारूद के ढेर पर बैठा था हरदा? ब्लास्ट के बाद ज़ब्त किया 1 लाख 20 हज़ार किलो विस्फोटक

लोमेश कुमार गौर

ADVERTISEMENT

Harda News , Harda Factory Blast , Harda MP Blast , Harda Pataka Factory Blast , MP Factory Blast , Harda Fire News , Harda Factory Blast News , Harda News Live , Harda Factory Blast Live, Harda Factory Blast Latest News, मध्य प्रदेश,
Harda News , Harda Factory Blast , Harda MP Blast , Harda Pataka Factory Blast , MP Factory Blast , Harda Fire News , Harda Factory Blast News , Harda News Live , Harda Factory Blast Live, Harda Factory Blast Latest News, मध्य प्रदेश,
social share
google news

Harda Blast News: हरदा की पटाखा फैक्ट्री में हुए भयंकर ब्लास्ट ने दर्जनभर लोगों की जान ले ली. जिसके बाद पुलिस ने आरोपी फैक्ट्री मालिक को गिरफ्तार कर बड़ी कार्रवाई की. अब बारूदों से भरी पटाखा फैक्ट्री चलाने वाले राजेश अग्रवाल की करोड़ों की संपत्ति की कुर्की की गई है. प्रशासन को इस दौरान भारी मात्रा में बारूद को पटाखा सामग्री मिली है. 1 लाख 20 हजार किलो पटाखा सामग्री जब्त की गई है. वहीं आरोपियों की 18 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की गई है.

पटाखा विस्फोट मामले में पीड़ितों को आर्थिक मदद देने के लिए मुख्य आरोपी राजेश अग्रवाल की चल अचल सम्पत्ति कुर्की कर ली गई है. कुर्की सम्पत्ति की नीलामी के लिए कलेक्टर द्वारा नोटिस जारी कर दिए हैं. आगामी 30 दिन के भीतर नीलामी की कार्रवाई की जाएगी. प्रशासन द्वारा 1 लाख 20 हजार किलो पटाखा सामग्री जब्त की है, उसको नष्ट करने की कार्रवाई की जा रही है.

18 करोड़ की संपत्ति कुर्क

हरदा में पटाखा फैक्ट्री में हुए ब्लास्ट के मुख्य आरोपी राजेश उर्फ राजू अग्रवाल की तीन जगहों की संपत्ति प्रशासन ने कुर्क कर ली है. जानकारी के मुताबिक राजेश और सोमेश अग्रवाल की हरदा, खिरकिया और हंडिया में जमीनें, शहर में कार और दुकानें समेत 18 करोड़ की संपत्ति कुर्क की गई है. वहीं, दूसरे जिलों से भी संपत्ति की जानकारी मांगी गई है.

बारूद के ढेर पर बैठा था हरदा

कलेक्टर आदित्य सिंह ने बताया कि राजू अग्रवाल की पटाखा फैक्ट्री से 1 लाख 20 हजार किलो पटाखा सामग्री जब्त की है, जिसकी बाजार में कीमत करोड़ों रुपये है.100 टन से ज्यादा पटाखा सामग्री हरदा में मौजूद थी, जिससे और बड़ी दुर्घटना भी हो सकती थी. कोर्ट ने इसे नष्ट करने की अनुमति दे दी है. एनजीटी व प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की गाइन लाइन अनुसार विशेषज्ञों की देखरेख में प्रोटोकॉल अनुसार इसे नष्ट किया जाएगा.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

फैक्ट्री में ब्लास्ट के दौरान आसपास के 59 मकान क्षतिग्रस्त हो गए थे. इनमें से 39 मकान पूरी तरह तहस नहस हो गए. वहीं, 39 में से 21 मकानों का निर्माण प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हुआ था. 48 परिवारों के 129 लोग फिलहाल राहत शिविर में रह रहे हैं. संपत्ति की नीलामी की राशि से पीड़ित परिवारों को आर्थिक मदद की जाएगी.

पीड़ितों को मिलेगी नीलामी की राशि

हरदा कलेक्टर आदित्य सिंह ने बताया, हरदा पटाका फैक्ट्री मामले में जो मुख्य आरोपी है, एनजीटी के आदेश अनुसार उनकी संपत्ति कुर्क कर ली गई है और उसकी नीलामी की कार्रवाई चालू है. आज नोटिस जारी हो जाएंगे. एक माह का समय दिया हमको. उनकी सम्पत्ति को नीलाम करके पीड़ितों में राशि को वितरण करेंगे. आरोपियों के 14 खाते में से आठ खाते सीज कर दिए गए हैं. एनजीटी ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं मृतक और घायलों के परिजनों को प्रावधान के अनुसार राशि का वितरण किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: भोपाल समेत कई जिलों में बेमौसम बारिश का कहर, तेज आंधी के साथ गिरे ओले, 48 जिलों में IMD अलर्ट

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT