अपना मध्यप्रदेश

एक स्कूल ऐसा भी! जहां पढ़ाती है पुलिस, सैलरी से पैसे जुटाकर दे रहे हैं स्किल्स की ट्रेनिंग

Mandsaur News: मंदसौर की गांधी सागर थाना पुलिस ने एक अनूठी पहल की है. इसके तहत पुलिस अपनी सैलरी से फंड जुटाकर, उसे बच्चों की स्किल्स ट्रैनिंग पर खर्च कर रही है. गांधीनगर थाने की पुलिस की तनख्वाह का कुछ हिस्सा अनुसूचित जाति के बच्चों की शिक्षा पर खर्च किया जा रहा है. इसके जरिए […]
Updated At: Feb 21, 2023 17:40 PM
Madhya Pradesh, Skills Training, Mandsaur News, Gandhi Sagar Police
फोटो: आकाश चौहान

Mandsaur News: मंदसौर की गांधी सागर थाना पुलिस ने एक अनूठी पहल की है. इसके तहत पुलिस अपनी सैलरी से फंड जुटाकर, उसे बच्चों की स्किल्स ट्रैनिंग पर खर्च कर रही है. गांधीनगर थाने की पुलिस की तनख्वाह का कुछ हिस्सा अनुसूचित जाति के बच्चों की शिक्षा पर खर्च किया जा रहा है. इसके जरिए उन्हें स्किल्स की ट्रैनिंग दी जा रही है, ताकि वह अपनी जिंदगी में कुछ कर सकें और कुछ नहीं तो कम से कम आत्मनिर्भर बन सकें. इस तरह से गांव से दूर के इलाके में रहने वाले बच्चों को स्पेशल क्लास दी जाती हैं.

आमतौर पर आपने पुलिस को अपराधियों को पकड़ते हुए, मामले की छानबीन करते हुए ही देखा होगा. लेकिन मंदसौर की गांधी सागर पुलिस की पहल के बारे में सुनकर हर कोई खुशी और आश्चर्य से भर जाएगा. गांधीनगर थाना पुलिस ने नई पहल की शुरुआत की है. इसके जरिए छोटे बच्चों को स्किल्स की ट्रैनिंग दी जा रही है. खास बात ये है कि इसके लिए सरकारी मदद या फिर जनसहयोग से नहीं, बल्कि पुलिस की सैलरी से पैसा खर्च किया जाता है.

ये भी पढ़ें: इंदौर ने रचा इतिहास, ग्रीन ब्रांड पब्लिक इश्यू की NSE में हुई लिस्टिंग; सीएम ने घंटा बजाकर की घोषणा

एसआई की पहल पर हुई शुरुआत
इस तरह की स्पेशल स्किल्स ट्रैनिंग की शुरुआत थाने के एसआई लाखन सिंह राजपूत की पहल पर की गई. पुलिस उप निरीक्षक लाखन सिंह राजपूत जब गांधी सागर आए थे, तभी से उन्होंने इन बच्चों को पढ़ाने का जिम्मा लिया. गांधी सागर थाने के आरक्षकों की तनख्वाह से हर महीने 100 से 200 रुपये बच्चों की शिक्षा के लिए दिए जाते हैं. बाकी खर्च उप निरीक्षक अपनी तनख्वाह से उठाते हैं. ये स्पेशल क्लासेज पिछले एक साल से चलाई जा रही हैं.

ये भी पढ़ें: एमपी अजब है: गणतंत्र दिवस पर 48 हजार रुपये की मिठाई खा गए स्कूली बच्चे, बिल पर्ची वायरल

बच्चों को पढ़ाने आते हैं पुलिस वाले
बच्चों को पढ़ाने के लिए पार्वती नाम की टीचर को हायर किया गया है. टीचर भी बच्चों के गांव से ही है. इसके अलावा अक्सर इन बच्चों को पढ़ाने के लिए पुलिस के अधिकारी और कर्मचारी भी आते रहते हैं. वे बच्चों के लिए कभी अपने साथ कॉपी, पेन बेग,पानी की बोटल, चॉकलेट, आदि चीजें लेकर आते हैं. इन क्लासेज की मॉनिटरिंग भी पुलिस करती है. क्लास के व्हाट्सएप ग्रुप पर टीचर द्वारा पढ़ाई के वीडियो डाले जाते हैं. बच्चे स्कूल भी जाते हैं लेकिन उन्हें यहां अच्छी पढ़ाई के साथ-साथ स्किल्स की ट्रैनिगं भी दी जाती है.

मध्य प्रदेश की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए Mp Tak पर क्लिक करें

1 Comment

Comments are closed.

ये है विकास दिव्यकीर्ति सर की फेवरेट फिल्म, नाम जानकर रह जाएंगे दंग IAS बहन की शादी में खूबसूरत लुक में नजर आईं टीना डाबी, देखें तस्वीरें बेहद कंजूस होते हैं इन तारीखों को जन्में लोग, पाई-पाई का रखते हैं हिसाब इस मूलांक वाली लड़कियों की किस्मत में होती है बेवफाई, प्यार में मिलता है धोखा जन्नत जैसे खूबसूरत हैं MP ये 2 गांव, कश्मीर-गोवा से होती है तुलना घमंडी और जिद्दी होती हैं इन तारीखों को जन्मीं लड़कियां ससुराल में राज करती हैं इन तारीखों में जन्मीं लड़कियां, मिलता है ढेर सारा प्यार प्यार से ज्यादा पैसे पर मरते हैं इस मूलांक वाले लोग, फायदे के लिए बनाते हैं रिश्ते इस दिन जन्में लोगों में होता है ‘राजयोग’, IAS-IPS बनने की जबर्दस्त काबिलियत शर्मिला टैगोर की हसीन अदाओं पर क्लीन बोल्ड हो गए थे क्रिकेटर टाइगर पटौदी खजुराहो में ऐसा क्या हुआ कि बन गया वर्ल्ड रिकॉर्ड? देखिए खास तस्वीरें पढ़ने में सबसे ज्यादा होशियार होते हैं इस मूलांक वाले लोग, बनते हैं बड़े अफसर जब लगे कि जिंदगी में अब कुछ नहीं बचा, तब दिव्यकीर्ति सर का ये सूत्र पार लगा देगा नैया गुस्से में आगबबूला हो जाते हैं इस तारीख को जन्में लोग, पलभर में तोड़ देते हैं रिश्ते खूबसूरती में IAS टीना डाबी को टक्कर देती हैं MPPSC टॉपर प्रिया पाठक, देखें तस्वीरें इस तारीख को जन्म लेने वाली लड़कियों में होता है IAS बनने का जन्मजात गुण वसंत में खिल जाती है ‘सतपुड़ा की रानी’, इस हिल स्टेशन की खूबसूरती देख रह जाएंगे हैरान बला की खूबसूरत होती हैं इस तारीख में जन्मीं लड़कियां, ऐश्वर्या का नाम भी है इस लिस्ट में बॉलीवुड की कौन सी एक्ट्रेस है विकास दिव्यकीर्ति की पहली पसंद? जान लीजिए करोड़ों में खेलते हैं इस तारीख को जन्में लोग, टाटा-अंबानी भी इस लिस्ट में