mptak
Search Icon

3 राज्यों में था 14 लाख के ईनामी नक्सली का आतंक, बालाघाट में ऐसे हुआ सबसे खूंखार नक्सली का एनकाउंटर

एमपी तक

ADVERTISEMENT

mptak
social share
google news

न्यूज़ हाइलाइट्स

point

14 लाख का इनामी नक्सली सुरक्षा बलों के द्वारा ढेर किया गया है.

point

कोठिया टोला में सुरक्षा बल और नक्सलियों के बीच में मुठभेड़ हुई

point

घटना के बाद से जिले में अलर्ट जारी कर दिया गया है. 

Naxalite Uka Sohan encounter: मध्य प्रदेश में सुरक्षा बलों को बड़ी सफलता हाथ लगी है. 14 लाख का इनामी नक्सली सुरक्षा बलों के द्वारा ढेर किया गया है. मध्य प्रदेश के बालाघाट में इस पूरे ऑपरेशन को सुरक्षा बलों ने अंजाम दिया, जहां पर 14 लाख का इनामी नक्सली ढेर कर दिया गया. सुरक्षा बलों को कई दिनों से उसकी तलाश थी.

कोठिया टोला में सुरक्षा बल और नक्सलियों के बीच में मुठभेड़ हुई जिसमें 14 लाख का इनामी नक्सली उका सोहन को सुरक्षा बलों ने ढेर कर दिया है. इस इलाके में ऑपरेशन लगातार जारी है. घटना के बाद से जिले में अलर्ट जारी कर दिया गया है. 

कौन था उका सोहन?

जानकारी के मुताबिक  मारा गया नक्सली उका सोहन  आईइडी (विस्फोटक) बनाने में एक्सपर्ट था. वह छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले का रहने वाला था. यह मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र में नक्सली गतिविधियों में संलिप्त था, जिस पर 14 लाख रुपए का इनाम घोषित था. उकास केबी डिवीजन का एसीएम था. उसके पास से 315 बोर की रायफल तथा केनवुड वायरलेस सेट बरामद किया गया है. 

कैसे किया सबसे खूंखार नक्सली का एनकाउंटर? 

हॉकफोर्स को सूचना मिली थी कि बालाघाट के हट्‌टा थाना क्षेत्र के गोदरी पुलिस चौकी के ग्राम कोठियाटोला जंगल क्षेत्र में जीआरबी तथा केबी डिवीजन के नक्सलियों की गतिविधि है. वे सादे कपड़ों में राशन और दैनिक उपयोग की सामग्री एकत्र करने के लिए कोठियाटोला गांव पहुंच रहे हैं. इस आसूचना पर हॉकफोर्स ने जंगल में सघन सर्च अभियान आरंभ किया.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

हॉकफोर्स ने कोठियाटोला गांव में सादे कपड़ों में जा रहे 10-12 नक्सलियों को पूछताछ के लिए आवाज लगाई. इस दौरान संदिग्ध नक्सलियों द्वारा हॉकफोर्स पर अंधाधुंध फायरिंग की गई. आत्मरक्षा करते हुए हॉकफोर्स के जवानों ने जवाबी फायरिंग की. इस दौरान नक्सली घने जंगल और पहाड़ की आड़ लेकर भाग गए. सर्चिंग के दौरान एक नक्सली का शव बरामद हुआ. जिसकी शिनाख्त केबी डिवीजन के खूंखार एसीएम सोहन उर्फ उकास उर्फ आयतु के रूप में की गई. इस बात की पूर्ण संभावना है कि मुठभेड़ में कुछ अन्य नक्सली घायल हुए हैं, जिनकी तलाश जारी है.

MP पुलिस को बड़ी सफलता

विगत दो वर्ष में नक्सल विरोधी अभियान में मप्र पुलिस ने अभूतपूर्व सफलताएं प्राप्त की हैं. 2022 से अब तक जितने नक्सली मारे गए हैं, उनकी संख्या उससे पिछले 20 वर्षों में मारे गये नक्सलियों की कुल संख्या से अधिक है. प्रदेश पुलिस ने पहली बार डीवीसीएम स्तर के तीन नक्सली ढेर किए, इनसे तीन एके-47 रायफल जब्त की गई. वहीं 82 लाख रुपए के इनामी नक्सली एसजेडसीएम अशोक रेड्‌डी उर्फ बलदेव को गिरफ्तार किया है. वहीं विगत पांच वर्षों में 19 इनामी नक्सली धराशायी किए गए हैं. 

ADVERTISEMENT

नक्सली मूवमेंट पर सुरक्षा बलों की नजर

जानकारी के मुताबिक, नक्सली के मूवमेंट पर लगातार सुरक्षा बलों की नजर थी. वहीं मुखबिर की सहायता से इसको लोकेट किया गया, जिसके बाद यहां पर एनकाउंटर हुआ. लंबी मुठभेड़ के बाद नक्सली को ढेर कर दिया गया. वहीं आपको बता दें कि मध्य प्रदेश का बालाघाट का जो इलाका है वो नक्सली प्रभावित एरिया माना जाता है. यहां पर लगातार पुलिस और सुरक्षा बल जो है वह गश्त करते हुए दिखाई देते हैं. फिलहाल पूरे जिले में अलर्ट भी जारी कर दिया गया है.

ADVERTISEMENT

ये भी पढ़ें: क्या MP में कांग्रेस को शिवराज की 'लाड़ली बहना योजना' की वजह से मिली करारी हार? हो गया बड़ा खुलासा

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT