mptak
Search Icon

Pune Porsche Accident: इंजीनियरों को कार से कुचलने वाले रईसजादे के दादा गिरफ्तार, पुलिस ने किया बड़ा खुलासा

ADVERTISEMENT

mptak
social share
google news

Pune Porsche Accident Case: महाराष्ट्र के पुणे पोर्शे कार एक्सीडेंट मामले में नया मोड़ आया है. पुणे पुलिस कमिश्नर ने इस मामले में चौंकाने वाला खुलासा किया है.  मध्य प्रदेश के इंजीनियरों के कातिल को बचाने के लिए आरोपी के दादा ने बड़ी साजिश रची थी. पुलिस ने खुलासा किया कि आरोपी के दादा ने घटना का आरोप ड्राइवर के ऊपर मढ़ने की पूरी कोशिश की है. पुलिस ने आरोपी सुरेंद्र अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया है. 

ड्राइवर के ऊपर आरोप मढ़ने की कोशिश

पुणे पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार ने प्रेस ब्रीफिंग के माध्यम से जानकारी देते हुए बताया, "घटना की रात ड्राइवर पर अपराध का दोष खुद के ऊपर लेने का दबाव बनाया गया. ड्राइवर ने अपने पहले बयान में कहा था कि वह कार चला रहा था, लेकिन साक्ष्यों से पता चला कि लड़का गाड़ी चला रहा था. उस रात जब ड्राइवर पुलिस स्टेशन से जा रहा था, तो आरोपी के दादा सुरेंद्र अग्रवाल ने उसका मोबाइल फोन छीन लिया और उसे अपने घर पर बंधक बनाकर रखा और ड्राइवर पर दोष लेने का दबाव बना रहा था. इसके बाद ड्राइवर के परिवार ने उसकी तलाश की और अग्रवाल के घर पर उसे बचाया. तब से ड्राइवर डर में था. क्राइम ब्रांच ने ड्राइवर का बयान लिया है और इस मामले में सोमवार को आरोपी विशाल अग्रवाल को फिर से गिरफ्तार किया जाएगा."

नाबालिग ही चला रहा था गाड़ी- CP

शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सीपी अमितेश कुमार ने जानकारी देते हुए बताया था, "हमारी जांच में सामने आया है कि जो आरोपी है, वहीं गाड़ी चला रहा था. जब वो घर से निकला था, उसके सिक्योरिटी गार्ड के पास जो रजिस्टर है, उससे भी साबित होता है कि ये गाड़ी नाबालिग ही चला रहा था. इसके अलावा आईविटनेस की भी स्टेटमेंट है. सीपी अमितेश कुमार ने बताया कि आरोपी के फुल नॉलेज में था कि किसी की जान जा सकती है." 

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

बता दें कि इस मामले में पुलिस ने नाबालिग आरोपी के दादा सुरेंद्र अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं नाबालिग आरोपी के पिता को भी गिरफ्तार किया जा चुका है. इससे पहले मुख्य आरोपी विशाल अग्रवाल को कोर्ट ने 14 न्यायिक हिरासत में भेज दिया था.

जानें क्या है पूरा मामला? 

गौरतलब है कि पुणे में पोर्शे कार से एक्सीडेंट में मध्य प्रदेश के इंजीनियर अनीश अवधिया और अश्विनी कोष्ठा की मौत हो गई थी. दोनों ही 24 साल के थे और आईटी इंजीनियर थे. घटना वाली रात में वे अपने दोस्तों से मिलने के लिए निकले थे और बाइक पर लौट रहे थे. इसी दौरान नशे में धुत एक नाबालिग लड़के ने अपनी पोर्शे हाई-एंड कार से उन्हें पीछे से टक्कर मार दी. आईविटनेस के मुताबिक टक्कर से अश्विनी 20 फीट ऊपर उछल गई और जमीन पर आ गिरी. बाइक चला रहा अनीश टक्कर से उछलकर एक खड़ी कार से जा टकराया. इस हादसे में दोनों की मौके पर ही मौत हो गई.

ये भी पढ़ें: Pune Porshe Accident Case: पुणे कार एक्सीडेंट मामले में CM मोहन यादव के बयान से गरमाई सियासत, भड़के जीतू पटवारी

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT