mptak
Search Icon

MP Lok Sabha Elections: मध्य प्रदेश की इन 9 सीटों पर बदल जाएंगे सांसद, जान लीजिए कैसे होगा ये बड़ा बदलाव?

एमपी तक

ADVERTISEMENT

इन सीटों पर बदलने वाले हैं सांसद
इन सीटों पर बदलने वाले हैं सांसद
social share
google news

MP Lok Sabha Election: मध्य प्रदेश समेत पूरे देश भर को अब 4 जून का इंतजार है. जब लोकसभा चुनावों के नतीजे जनता के सामने आएंगे. मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों पर 4 चरणों में मतदान संपन्न हो चुका है. अब प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला EVM मशीनों में कैद है. इस खबर में हम आपको बताने जा रहे हैं कि मध्य प्रदेश में कोई भी जीते चाहे बीजेपी या फिर कांग्रेस लेकिन इन 9 लोकसभा सीटों पर सांसद बदलने वाले हैं. 

मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनावों को लेकर बीजेपी का दावा है कि वे 29 की 29 लोकसभा सीटों पर चुनाव जीतने वाले हैं, तो वहीं कांग्रेस एक दर्जन से भी अधिक सीटों पर जीत दर्ज करने की बात कहती नजर आ रही है. हालांकि इन दावों में कितनी हकीकत है ये तो आने वाले 4 जून को ही सामने आएगा. 

इन सीटों पर 100 फीसदी बदलेंगे सांसद

4 जून को परिणाम कुछ भी हो पर कुछ सीटें ऐसी हैं, जहां से सांसद बदलना 100 फीसदी तय है. आपको बता दें भोपाल, होशंगाबाद, जबलपुर, सीधी, बालाघाट, सागर, दमोह, ग्वालियर और मुरैना लोकसभा सीट पर इस बार नया सांसद मिलने वाला है. ऐसा इसलिए क्योंकि इन सीटों पर पुराने प्रत्याशियों के बजाय नए प्रत्याशी चुनावी मैदान में उतरे हैं. यहां से बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही दलों ने नए प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है. 

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ये भी पढ़ें; MP Loksabha Chunav 2024: लोकसभा चुनाव के नतीजों से मध्य प्रदेश में BJP को लगेगा करारा झटका? क्यों हो रही नुकसान की चर्चाएं?

किसके बदले कौन लड़ रहा चुनाव?

आपको बता दें भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी ने आलोक शर्मा तो वहीं कांग्रेस ने अरूण श्रीवास्तव को मैदान में उतारा है. यहां से साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पहले सांसद रह चुकी हैं. वहीं होशंगाबाद सीट की बात की जाए तो यहां से बीजेपी ने दर्शन सिंह चौधरी तो कांग्रेस ने पूर्व विधायक संजय शर्मा को अपना प्रत्याशी बनाया है. यहां से पहले बीजेपी राव उदय प्रताप सिंह सांसद रह चुके हैं.

ADVERTISEMENT

जबलपुर लोकसभा सीट आशीष दुबे जबकि कांग्रेस ने दिनेश यादव को अपना प्रत्याशी बनाया है. पिछले चुनाव की बात की जाए तो यहां से पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह चुनाव जीते थे. जो अब मध्य प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं. 

ADVERTISEMENT

सीधी लोकसभा सीट पर पिछली बार 2019 में रीति पाठक सासंद चुनी गईं थी, लेकिन इस बार बीजेपी ने यहां से राजेश मिश्रा टिकिट दिया है. वहीं अगर कांग्रेस की बात करें तो यहां से पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल को उम्मीदवार बनाया है.

ये भी पढ़ें; Exit Poll 2024: MP में लोकसभा चुनाव 2019 में सटीक बैठे थे एग्जिट पोल के नतीजे, इस बार कब आएगा सर्वे? जानें

बालाघाट लोकसभा सीट पर लगभग हर बार प्रत्याशी का परिवर्तन होता रहता है. पिछले चुनाव की बात की जाए तो यहां से ढालसिंह बिसेन चुनाव जीते थे, पार्टी ने इस बार इस सीट से भारती पारधी को चुनाव लड़ाया है. तो वहीं कांग्रेस ने सम्राट सरस्वार को अपना प्रत्याशी बनाया है. 

सागर लोकसभा सीट पर पिछले चुनाव में बीजेपी के राजबहादुर सिंह चुनाव जीतकर सांसद बने थे, लेकिन इस उनकी जगह बीजेपी ने लता बानखेड़े तो कांग्रेस चंद्रभूषण सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया है.

दमोह लोकसभा सीट की बात की जाए तो पिछले चुनाव में यहां से पूर्व केंद्रीय मंत्री और वर्तमान में मध्य प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल चुनाव जीते थे, लेकिन इस बार यहां से बीजेपी की तरफ से राहुल लोधी और कांग्रेस की तरफ से तरवर लोधी चुनावी मैदान में हैं. 

मुरैना लोकसभा सीट से पहले नरेंद्र सिंह तोमर सांसद रहे हैं, इस समय वे विधानसभा स्पीकर हैं,  इस पर बीजेपी ने शिवमंगल सिंह तोमर तो कांग्रेस ने नीटू शिकरवार को प्रत्याशी बनाया है. 

ग्वालियर लोकसभा सीट पर बीजेपी पूर्व राज्य मंत्री भारत सिंह कुशवाह तो कांग्रेस ने पूर्व विधायक प्रवीण पाठक को मैदान में उतारा है, ऐसे में यहां पर भी नया सासंद जनता को मिलेगा. 

बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही दलों ने इस बार लोकसभा चुनाव में कई सिंटिग विधायकों को लोकसभा चुनाव में उतारा है. जिसमें शिवराज सिंह चौहान से लेकर सिद्धार्थ सिंह कुशवाहा तो वहीं उज्जैन से महेश परमार चुनावी मैदान में हैं, अगर ये चुनाव जीतते हैं तो प्रदेश में उपचुनाव की तैयारी शुरू हो जाएगी. 

ये भी पढ़ें; Lok Sabha Election 2024 Exit Polls: रिजल्ट से पहले कैसे अनुमान लग जाता है, किसकी बन रही है सरकार? जानें एग्जिट पोल का हाल

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT