mptak
Search Icon

स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने किया राहुल गांधी के भाषण का किया समर्थन, चर्चा में उनका बयान

अनुज ममार

ADVERTISEMENT

राहुल के समर्थन में शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद
social share
google news

MP Politics: कांग्रेस नेता राहुल गांधी के संसद वाले बयान पर बीजेपी ने खूब विरोध किया. सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक बीजेपी ने राहुल गांधी को घेरने की कोशिश की है. यहां तक की कई जगह राहुल गांधी के विरोध में पुतले भी जलाए गए. वहीं इस मामले में अब राहुल गांधी को शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद का साथ मिल गया है. अविमुक्तेश्वरानंद की माने तो राहुल गांधी का बयान तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया है. उन्होंने हिंदुओं के खिलाफ कुछ भी नहीं बोला है.

दरअसल संसद में राहुल गांधी द्वारा दिए गए हिंदू वाले बयान पर बवाल मचा हुआ है. शंकराचार्य अभिमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने राहुल गांधी के संसद में दिए बयान पर कहा कि "कुछ लोगों ने राहुल गांधी के बयान के कुछ अंश निकालकर उसे गलत तरीके से पेश किया है. लेकिन, हमने राहुल गांधी का पूरा बयान सुना है. यह दुष्प्रचार है.ऐसे लोगों को दंड अवश्य मिलना चाहिए"

राहुल के समर्थन में क्या बोले अविमुक्तेश्वरानंद?

शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने अपने बयान में कहा है कि राहुल गांधी ने अपने भाषणों में कहीं भी हिंदू धर्म के विरुद्ध बात नहीं की है. बल्कि विरोधियों की ओर से वीडियो में कांट छांट कर दिखाया गया है. उन्होंने कहा कि हमने राहुल गांधी का पूरा भाषण सुना है. राहुल साफ कह रहे हैं कि "हिंदू धर्म में हिंसा का स्थान नहीं है" स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने इस बात पर भी जोर दिया कि राहुल गांधी के बयान को आधा-अधूरा फैलाना अपराध है और ऐसा करने वालों को दंडित किया जाना चाहिए.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

यह बयान ऐसे समय आया है, जब राहुल गांधी के एक बयान को सोशल मीडिया से लेकर जमीन तक विरोध देखने को मिल रहा है. जिसमें राहुल पर कथित तौर पर हिंदू धर्म के खिलाफ बोलने का आरोप लगाया गया था. 

क्या है पूरा विवाद?

दरअसल, संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बहस के दौरान विपक्ष के नेता के तौर पर अपने पहले भाषण में राहुल गांधी ने बीजेपी नेताओं पर सांप्रदायिक आधार पर लोगों को बांटने का आरोप लगाया. अपनी बात रखते हुए राहुल गांधी ने कहा,  ‘जो लोग खुद को हिंदू कहते हैं वे हिंसा की बात करते हैं’. 

ADVERTISEMENT

राहुल गांधी ने जब भाजपा पर यह आरोप लगाया तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने आपत्ति जताते हुए यह कहा कि कांग्रेस नेता ने पूरे हिंदू समाज को हिंसक कहा है. अब इस विवाद पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि राहुल गांधी का भाषण हिंदू धर्म का खंडन नहीं करता है. 

ADVERTISEMENT

ये भी पढ़ें: MP Politics: गोपाल भार्गव को मंत्री न बनाए जाने से क्यों दुखी हैं जीतू पटवारी? कब पलटवार करेंगे भार्गव

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT