mptak
Search Icon

Bhopal News: PM आवास योजना के अधूरे घरों को लेकर फूटा गुस्सा, ढोल-नगाड़े लेकर घुस गए कमिश्नर ऑफिस

रवीशपाल सिंह

ADVERTISEMENT

पीएम आवास के अधूरे घरों को लेकर लोगों को गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने नगर निगम में जमकर हंगामा किया.
bhopal_news
social share
google news

Bhopal Nagar Nigam News: मध्य प्रदेश की जनता जब किसी को प्यार करती हैं तो पूरी शिद्दत से करती है, मगर जब वह खफा हो जाती है तो उसका भी पूरी ताकत से दिखाती है. लोकसभा चुनाव में जनता का प्यार पूरे देश ने देखा, जब उन्होंने भाजपा को 29-0 से जिताकर एक मिसाल बना दी. लेकिन अगर काम नहीं होंगे तो फिर जनता का गुस्सा फूटेगा. शुक्रवार को कुछ ऐसा ही हुआ, जब राजधानी भोपाल के नगर निगम ऑफिस में लोगों ने कमिश्नर दफ्तर काे घेर लिया और ढोल नगाड़े बजाने लगे. 

दरअसल, वह पीएम आवास योजना में अधूरे पड़े घरोंं को लेकर नाराज थे, जिसके बाद उन्होंने नगर निगम में जमकर हंगामा किया. उन्हें शांत कराने के लिए खुद कमिश्नर को आना पड़ा. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बनाये जा रहे पीएम आवास के हितग्राही नगर निगम की लचर व्यवस्था से परेशान रहते हैं. जब उनके धैर्य का बांध टूट गया तो वे अफसरों को जगाने के लिए ढोल-नगाड़े लेकर नगर निगम ऑफिस में ही घुस गए.

नगर निगम अफसरों की चूक

पीएम आवास योजना के तहत प्रदेश में लोगों के लिए घरों का निर्माण किया जा रहा है, केंद्र सरकार और राज्य सरकार के संयुक्त प्रयासों से कम कीमत पर आवास तैयार कर गरीबों को दिए जा रहे हैं, लेकिन नगर निगम अफसरों की लापरवाही के चलते पैसा जमा करने के बावजूद हितग्राहियों को सालों बाद भी आवास नहीं मिल पा रहे हैं.

ये भी पढ़े- Ujjain Crime: उज्जैन में चल रहा था T20 वर्ल्डकप पर करोड़ों रुपये का सट्‌टा, मारा छापा तो पुलिस की भी खुली रह गईं आंखें

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

अनोखे अंदाज़ में किया प्रदर्शन

आज परेशान हितग्राही ढोल नगाड़े लेकर नगर निगम ऑफिस पहुंचे और उन्होंने वहां नारेबाजी करते हुए निगम अफसरों पर आरोप लगाये. नाराज हितग्राहियों ने आरोप लगाये कि अफसर भ्रष्टाचार में लिप्त हैं. पैसा जमा कराने के बाद भी कई साल बीत गए लकिन हमें हमारे आवस नहीं मिल पाए, हालांकि अफसर उन्हें समझाने का प्रयास करते रहे, लेकिन हितग्राहियों का गुस्सा शांत नहीं हुआ और वे नारेबाजी करते रहे.

कैसे सुलझा मामला?

प्रदर्शनकारियों का कहना था कि वे कमिश्नर से मिलकर ही वापस जाएंगे. उन्होंने साथ ही ये भी चेतावनी दी थी कि ये सांकेतिक प्रदर्शन है और जल्द मकान नहीं मिले तो तालाबंदी भी कर सकते हैं. इसके बाद में कमिश्नर हरेंद्र नारायण मौके पर पहुंचे और 3 महीने में मकान दिए जाने का आश्वासन दिया है. इसके बाद प्रदर्शनकारी शाम करीब 4 बजे वहां से हट गए. पूरा प्रदर्शन ISBT स्थित नगर निगम के ऑफिस में निगम कमिश्नर हरेंद्र नारायण के चैंबर के बाहर हुआ.

ADVERTISEMENT

ये भी पढ़े - MP Weather: भीषण गर्मी से परेशान लोगों को मिली 'अमृत बूंदों' से बड़ी राहत, MP में हो गई मानसून की एंट्री!

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT