कुवैत में नौकरी कर रहे पिता की वजह से भाई-बहन ने उठाया था ये खौफनाक कदम, कहानी पढ़कर कांप जाएगी रूह

ADVERTISEMENT

Ujjain_Double_suicide
Ujjain_Double_suicide
social share
google news

Crime In Ujjain: उज्जैन के जीवाजीगंज थाना क्षेत्र में में बीते दिनों बोहरा समाज के भाई-बहन की डेड बॉडी घर में मिलने से सनसनी फैल गई थी. दोनों भाई-बहन की मौत के मामले में उज्जैन (Ujjain) पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है और माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया है. मृतकों के माता-पिता पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है. ख़ास बात ये है कि मां भी आत्महत्या (Suicide) करना चाहती थी, लेकिन पिता को बच्चों का खून दिखाने के लिए उसने आत्महत्या नहीं की और खून फ्रिज में रखकर स्कूल पढ़ाने चली गई. पूरी कहानी जानकर आपकी रूह कांप जाएगी. 

ये पूरा घटनाक्रम 29 मार्च शुक्रवार शाम को करीब 6 बजे सामने आया था. जीवाजीगंज पुलिस को सुचना मिली थी कि केडी गेट समीप सैफी मोहल्ले ने सुगरा मंजील नामक मकान में 29 वर्षीय युवक ताहिर और 15 वर्षीय बच्ची जेहरा की डेड बॉडी मिली है, दोनों ने आत्महत्या की है.

हम इसलिए सुसाइड कर रहे हैं....

मामले की जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों डेड बॉडी के हाथ की नस कटी हुई देखी और खून फ्रीज में अलग से पाया. जिसके बाद पुलिस ने मामले में हत्या और आत्महत्या दोनों एंगल से जांच शुरू कर दी. पता चला कि मृतकों के पिता सादिक हुसैन कुवैत में रहते हैं. पुलिस को पास से सुसाइड नोट भी मिला था, जिसमें बच्चों ने लिखा था, माता-पिता आप हमारा ध्यान नहीं रखते, इसलिए हम सुसाइड कर रहे हैं. युवक उसकी आंखों की गंभीर बीमारी के कारण डिप्रेशन में था.

मां भी करना चाहती थी सुसाइड 

पुलिस ने जब संदिग्ध मामले में माता पिता से पुछताछ की तो पता चला कि बुधवार को सादिक ने उसकी पत्नी के मोबाईल पर मैसेज किया था, "मेरे पास रुपये कम हैं और कर्ज ज्यादा है. मुझसे तुम लोग ज्यादा उम्मीद मत रखना." इस मैसेज से दुखी होकर मां फातिमा, बेटा ताहिर और बेटी ज़ेहरा तीनों ने आत्महत्या करने का निर्णय लिया. लेकिन मां को आत्महत्या करने के लिए बेटे और बेटी ने रोक दिया था और दोनों ने आत्महत्या जैसा कदम उठा लिया. बेटा-बेटी के साथ मां भी आत्महत्या करना चाहती थी.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पुलिस को मां फातिमा ने बताया कि पति वर्ष 2003 से कुवैत में नौकरी करते थे एवं घर पर कई साल में आते थे. परिवार को कम समय देते थे और परिवार का ध्यान नहीं रखते थे. पूरा परिवार आत्महत्या करना चाहता था. 

मां ने रची ऐसी खौफनाक कहानी

हैरान करने वाली बात ये है कि पिता को दिखाने के लिए मां ने बच्चों का खून फ्रिज में रखा था. मां ने कहा मैं भी आत्महत्या करने वाली थी, लेकिन दोनों बच्चों ने मना कर दिया. कहा कि हमारा खून आप पिता को दिखाना, जिसके बाद मां ने दोनों का खून को प्लास्टिक थैली में भरकर फ्रिज में रख दिया था. इस तरह बच्चों की आत्महत्या में उनका साथ देने के बाद मां स्कूल में पढ़ाने चली गई. शाम को घर आकर उसने नाटक किया और खबर फैलाई की बच्चो ने आत्महत्या कर ली है. पुलिस ने बताया की घर से जो सुसाइड नोट मिला था वो भी उनकी मां ने ही लिखा था, लेकिन साइन दोनों बच्चों से करवा लिए थे.

एसपी प्रदीप शर्मा ने बताया, "दो भाई बहन है भाई की उम्र करीबन 29 साल है. बहन की उम्र करीबन 15 साल है. इन्होंने 3 दिन पहले आत्महत्या करी थी. इसमें माता-पिता दोनों के खिलाफ धारा 306 और 305 मामला दर्ज किया गया और  उनको गिरफ्तार किया गया है. मामले से जुडे़ जो अन्य सभी बिंदू हौं उनपर भी गहनता से जांच की जा रही है.
 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT