mptak
Search Icon

Vikas Divya Kirti in Ujjain: उज्जैन के मुरीद हुए विकास दिव्यकीर्ति, रामघाट में छात्रों ने पहचाना, फिर कही दिल की बात

एमपी तक

ADVERTISEMENT

Vikas Divya Kirti
Vikas Divya Kirti
social share
google news

Vikas Divya Kirti News: यूपीएससी कोचिंग संचालक, मोटिवेशनल स्पीकर विकास दिव्यकीर्ति अक्सर सुर्खियों में रहते हैं. दिव्यकीर्ति की तगड़ी फैन फॉलोइंग है. उन्हें मध्य प्रदेश काफी पसंद है. जिसका जिक्र वह गाहे-बगाहे करते रहते हैं. विकास दिव्यकीर्ति ने हाल में आई फिल्म '12th फेल' में आईपीएस मनोज शर्मा के गुरु का रोल निभाकर काफी सुर्खियां लूटी थीं. कुछ दिन पहले ही वह इंदौर पहुंचे थे, जहां से वह अपने छात्रों के साथ नाइट आउट करते हुए उज्जैन में पहुंच गए. उज्जैन पहुंचकर उन्हें कैसा फील हुआ, वह उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर शेयर किया है.

विकास दिव्यकीर्ति ने उज्जैन में महाकाल लोक देखा और शिप्रा के घाट देखने भी गए. उज्जैन के अन्य पर्यटन स्थलों पर भी काफी वक्त गुजारा. बता दें कि डॉ. विकास दिव्यकीर्ति दृष्टि आईएएस कोचिंग के संचालक हैं. इसी सिलसिले में वह इंदौर गए थे, यहां साथ में उनकी पत्नी तरुणा वर्मा भी थीं. विकास दिव्यकीर्ति इंदौर में क्लास लेने के बाद अपनी पत्नी और छात्रों के साथ उज्जैन पहुंचे. 

पत्नी और छात्रों के साथ उज्जैन भ्रमण, दोस्त को दिया क्रेडिट

डॉ. विकास दिव्यकीर्ति ने सोशल मीडिया इंस्टाग्राम पर कुछ तस्वीरों के साथ पोस्ट करते हुए लिखा, "कल इंदौर में कक्षाएं पूरी हुईं तो रात में हम सब घूमते हुए उज्जैन पहुंचे. महाकाल मंदिर का कॉरिडोर और उसके पास बनी नई व भव्य कलात्मक निर्मितियों को देखा-सराहा. उसके बाद रामघाट की सीढ़ियों पर बैठकर सुकून के कुछ पल गुज़ारे. धार्मिक पर्यटन कैसे किसी शहर की अर्थव्यवस्था संवारता है, यह तो उज्जैन की हर गली में और शहर के बाहरी छोर पर चमक रहे सैकड़ों होटलों को देखते हुए महसूस किया. यह यात्रा संभव हुई प्यारे दोस्त विक्रम की वजह से जो फिलहाल उज्जैन में ही पोस्टेड हैं!"

जब छात्रों ने उन्हें पहचान लिया, और फिर...

विकास दिव्यकीर्ति सर के तगड़ी फैन फॉलोइंग है. उज्जैन में उन्होंने अपने फैन्स से भी मुलाकात की.दूसरी तस्वीर पोस्ट करते हुए उन्होंने लिखा, "रामघाट पर 5 बच्चों ने पहचान लिया तो उनसे बढ़िया गुफ़्तगू हुई. इनमें से एक अभी 20 वर्ष का है, जो अपना छोटा सा स्टार्टअप चला रहा है. दूसरा सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर है जिसने ज़ोर देकर बताया कि उसके 70 हज़ार फ़ॉलोवर्स हैं. तीसरे भाई के 10 हज़ार फ़ॉलोवर्स थे पर इंस्टाग्राम ने उसका अकाउंट बैन कर दिया है, अब वो फिर से भिड़ा हुआ है नए अकाउंट के साथ अपनी खोई ताकत हासिल करने के लिये. चौथा दोस्त अपना छोटा सा कैफे चलाता है और ज़िंदगी से बेइंतहा ख़ुश है. पांचवा अभी दसवीं क्लास से फ्री हुआ है और कुछ बड़ा करने की फ़िराक़ में है! सभी की आँखों में ज़िंदगी की चमक दिखी, आश्वस्ति मिली!"

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ये भी पढ़ें: MP Board Result 2024 Topper: 12वीं के टॉपर Jayant Yadav को इस सब्जेक्ट में मिले पूरे 100 नंबर, मार्कशीट कर देगी हैरान

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT