Lok Sabha Election: दिग्विजय सिंह के लिए मैदान में कूदे बेटे जयवर्धन, रोडमल नागर को बता दिया 'लापता सांसद'

विकास दीक्षित

ADVERTISEMENT

jaivardhansingh_roadmalnagar
jaivardhansingh_roadmalnagar
social share
google news

Rajgarh Loksabha Seat: मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव से पहले सियासी सरगर्मी तेज हैं. राजगढ़ लोकसभा सीट पर मुकाबला बेहद रोमांचक माना जा रहा है. यहां से कांग्रेस ने दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह को इस बार मैदान में उतारा है. उनके सामने हैं बीजेपी प्रत्याशी और दो बार से लगातार सांसद रोडमल नागर. पत्नी अमृता राय के साथ ही अब राजगढ़ में अपने पिता दिग्विजय सिंह के लिए चुनावी मैदान में जयवर्द्धन सिंह भी कूद पड़े हैं और उन्होंने बीजेपी उम्मीदवार रोडमल नागर को क्षेत्र से लापता रहने को सबसे बड़ा मुद्दा बताया है.

जयवर्द्धन सिंह ने आरोन में बयान देते हुए कहा कि रोडमल नागर क्षेत्र से हमेशा नदारद रहते हैं. ये सबसे बड़ा मुद्दा है. 10 साल से सांसद रोडमल नागर जनता के बीच जाते ही नहीं हैं. वे हमेशा गायब रहते हैं, पिछले 10 सालों में रोडमल ने किसी की नहीं सुनी.. जो जनप्रतिनिधि जनता के बीच मौजूद रहेगा वही परेशानियों को समझेगा.

 

 जयवर्द्धन सिंह ने कहा कि उनके पिता दिग्विजय सिंह पिछले 50 वर्षों से राजनीतिक क्षेत्र में सक्रिय हैं. क्षत्रवासियों से दिग्विजय सिंह का खून का संबंध रहा है. क्षेत्र में काफी विकास कराया है.

वादा निभाओ पदयात्रा निकाल रहे दिग्विजय

राजगढ़ संसदीय क्षेत्र में  "वादा निभाओ पदयात्रा" निकाल रहे दिग्विजय सिंह ने बयान देते हुए कहा कि उन्होंने 1984 में राजगढ़ से पहला चुनाव लड़ा था.  जनता ने उन्हें प्रचंड बहुमत से चुनाव जीतकर सांसद बनाया था. 1991 में दोबारा सांसद बने फिर मुख्यमंत्री बने. उस वक्त पिछड़ा वर्ग को आरक्षण दिलाने का काम किया. पंचायतों को अधिकार दिलाये.
 
कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने बीजेपी प्रत्याशी रोडमल नागर से केवल एक सवाल करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि 'राजगढ़ के लिए सांसद रोडमल ने राजगढ़ के लिए क्या कहा और क्या किया है. वे कौनसी योजना इस क्षेत्र में लेकर आए हैं.  

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

सांसद ने किया दिग्विजय पर पलटवार

दिग्विजय सिंह पर कटाक्ष करते हुए रोडमल नागर ने कहा कि बड़े महलों में रहने वाले गरीबी और गरीबों का दर्द नहीं जानते हैं. राजगढ़ लोकसभा क्षेत्र में किसानों को नहरों की सुविधा दी गई है. कांग्रेस के समय में बिजली नहीं आती थी. किसान परेशान थे, लेकिन बीजेपी के शासन में कोई भी खेत सूखा नहीं है.

राजगढ़ लोकसभा सीट का चुनाव हाईप्रोफाइल हो चुका है. एकतरफ राजनीति के खिलाड़ी दिग्विजय सिंह चुनाव लड़ रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर बीजेपी का संगठन रणनीति बनाकर दिग्विजय सिंह को पटखनी देने में जुटा हुआ है.

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT